मैरी कॉम ने रचा इतिहास, छठी बार वर्ल्ड बॉक्सिंग में जीता गोल्ड

मैरी कॉम बनी विश्व चैंपियन

भारतीय दिग्गज मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम ने शनिवार को एक बार फिर इतिहास रच दिया. 35 साल की इस स्टार ने महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप (World Boxing Championship) में सबसे ज्यादा (6) गोल्ड मेडल जीतने का वर्ल्ड रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया है. मैरीकॉम कुल सात विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली पहली महिला बॉक्सर बन गई हैं.|

 

मां बनने के बाद जीत का परचम लहराया

उन्होंने चैंपियनशिप के 10वें संस्करण में केडी जाधव हॉल में 48 किलोग्राम भारवर्ग के फाइनल में उन्होंने यूक्रेन की हन्ना ओखोटा को 5-0 से मात देकर विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में सबसे ज्यादा छह स्वर्ण पदकों पर कब्जा जमाने वाली पहली महिला विश्व चैंपियन बन गई हैं

 

मैरीकॉम ने सेमीफाइल में  गुरुवार को उत्तर कोरिया की किम हांग मी को मात दी थी , जबकि क्वार्टर फाइनल में उन्होंने चीन की वु यू को 5-0 से मात दी थी. पांच बार की विश्व चैम्पियन एमसी मैरीकॉम  ने हाल में गोल्ड कोस्ट राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था.

 

साथ ही लंदन ओलंपिक-2012 की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट ‘मैग्नीफिसेंट मेरी ‘ ने 5 गोल्ड मेडल जीतने वाली आयरलैंड की दिग्गज केटी टेलर (2006-16) को पीछे छोड़ दिया है. केटी अब प्रोफोशनल सर्किट में दांव आजमा रही हैं.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *