चोट के कारण, हेल्स खेल से बाहर :-
पहले एकदिवसीय मुकाबले के पूर्व ट्रेनिंग के दौरान एलेक्स हेल्स को साइड स्ट्रेन हो गया, जिसके कारण उन्हें पूरी शृंखला खेल के बाहर बैठना पड़ेगा.
इंग्लैंड के कप्तान ऑन मॉर्गन नें पहले ही साफ कर दिया था कि हेल्स से ज्यादा प्राथमिकता बेन स्टोक्स को दी जायेगी, जोकि हाल ही में पूरी तरह फिट होकर टीम में लौटे हैं.
पर हेल्स नें कुछ हफ्ते पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 147 रनों की ताबड़तोड़ पारी के साथ, बचे हुए मुकाबलों के लिए अपनी मजबूत दावेदारी पेश की थी.
हेल्स की जगह को कवर अप करने के लिए, मिडिलेक्स के डेविड मलन को टीम में जगह दी गई है. मलन नें अबतक इंग्लैंड के लिए टी20 और टेस्ट में ही प्रदर्शन किया है, वे अभीतक एकदिवसीय क्रिकेट में पदार्पण नहीं कर पाये हैं. हेल्स अपनी इनज्यूरी के चलते अगले चार हफ्तों तक नहीं खेल पायेंगे.
सैम करन को भी टीम से छोड़ा जा चुका है, ताकि वे शुक्रवार को सूरी और ससेक्स के बीच खेले जाने वाले टी20 मुकाबले में शिर्कत कर सकें.
उसके बाद वे शनिवार के मुकाबले के लिए टीम को फिर से जॉइन कर लेंगे.
कुलदीप के बारे में कहा मॉर्गन नें :-
मॉर्गन नें यह मानते है कि कुलदीप नें इंग्लिश टीम की एक बड़ी कमजोरी को जाहिर किया है.
कुलदीप नें बीते मुकाबले में कुल 25 रन देकर 6 विकेट झटके जिसके कारण, भारत 59 गेंद शेष रहते इंग्लैंड को हराने में कामयाब रहा.
भारतीय स्पिनर की तारीफ करते हुए मोर्गन नें कहा कि, ” वह काफी अच्छा गेंदबाज है. उसनें हमारी कमिया जाहिर की, जिसपर हमें मेहनत करनी होगी.”
“वह दुनिया में अकेला कलाई घुमाने वाला बाएं हाथ का गेंदबाज है, इसीलिए यह हमारे लिए कोई बड़ी समस्या नहीं है”
“वह किसी सामान्य कलाई-गेंदबाज सा नहीं है, हमनें पिछले छह महीनों में काफी क्रिकेट खेला है, पर उसके जैसा कोई अबतक हमारे खिलाफ न दिखा ”
मॉर्गन नें यह भी कहा कि ट्रेंट ब्रिज की पिच भी कुलदीप के लिए काफी मददगार साबित हुई, पर अगला मुकाबला लॉर्ड्स पर खेला जायेगा, जहां की पिच उतनी मददगार शायद ही हो.