दो दशकों तक चला करियर

 

बीते दिनों हुए एक इंटरव्यू के दौरान अनिल कुंबले ने अपने सबसे ज्यादा पसंदीदा कप्तान का नाम बताया|  गौरतलब है कि अनिल कुंबले भारत की ओर से अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं|

दो दशकों तक चले करियर के दौरान अनिल कुंबले कई कप्तानों के साथ खेले और कई उम्दा खिलाड़ी उनके साथी भी रहे| इस दौरान कुंबले ने कई रिकॉर्ड अपने नाम किए और कई सारी उपलब्धियां उन्होने अपने नाम की| उन्होने अपने करियर में कई कप्तानों के साथ खेला जिनमे सौरव गांगुली और सचिन तेंदुलकर भी शामिल हैं|  उनसे हमेशा ही पूछा जाता रहा है कि उनका पसंदीदा कप्तान कौन है|

 

उनकी पसंद 
कई कप्तानों के साथ खेले हुए अनिल कुंबले ने अपना पसंदीदा कप्तान मोहम्मद अज़हरुद्दीन को बताया. गौरतलब है कि अजहर लंबे समय तक भारत के कप्तान थे| उन्होने 174 एकदिवसीय और 47 टेस्ट मैच में भारत की कप्तानी की थी| उन्होने भारत को सबसे ज्यादा 90 एकदिवसीय मुकाबलों में जीत दिलाई थी और बाद में उनका यह रिकॉर्ड पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी द्वारा तोड़ा गया था|

कुंबले ने यह भी बताया कि उनकी पत्नी के पसंदीदा कप्तान महेंद्र सिंह धोनी हैं|  कुंबले ने बताया कि उनकी पत्नी महेंद्र सिंह धोनी की काफी बड़ी प्रशंसक हैं और वे उनसे जब भी मिलती हैं तब तस्वीरे लेना पसंद करती हैं|

 

कुंबले का करियर 
1990 में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद कुंबले ने 132 टेस्ट मुकाबलों में कुल 619 टेस्ट विकेट अपने नाम किए थे| अन्तराष्ट्रीय टेस्ट क्रिकेट में कुंबले मुथैया मुरलीधरन और शेन वॉर्न के बाद तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज हैं| 271 एकदिवसीय मुकाबलों में कुंबले ने कुल 337 विकेट लिए थे|

 

कुंबले ने अपने करियर में कई रिकॉर्ड बनाए और तोड़े थे| वो भारत की ओर से एक ही पारी में 10 विकेट लेने वाले पहले गेंदबाज थे| वे पहले भारतीय स्पिन गेंदबाज थे जिन्होने 300 विकेट लिए थे| उन्होने 2007 में टेस्ट कप्तान बनने के बाद नवम्बर 2008 में सन्यास लिया था|

 

सन्यास के बाद भी वे खेल जगत में सक्रिय थे| वे तीन सालों तक कर्नाटक क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष थे|उसके बाद उन्हे भारतीय टीम का मुख्य कोच नियुक्त किया गया था| पिछले वर्ष चैम्पियनस ट्रॉफी में मिली हार के बाद उन्हे कोच का पद छोड़ना पड़ा था|