भारत के दूरदर्शी राजनेता से लेकर एक महान कवि होने तक, एक दिग्गज पत्रकार होने से लेकर करोड़ो की प्रेरणा होने तक, भारत ने एक फिर अपना एक रत्न खो दिया. कल भूतपूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की शाम 5:05 बजकर मृत्यु हो गई. 16 अगस्त को हुई इस घटना के बाद भारतीय टीम ने निराशा भरे ट्वीटस किए, और सोशल मीडिया पर अपना दुख जाहिर किया. अटल जी एक प्रेरक व्यक्ति थे और उनकी मृत्यु 93 वर्ष की उम्र में हुई थी. उन्होने ऑल इंडिया इंस्टीटयूट ऑफ मेडिकल साइंस, दिल्ली में आखिरी सांस ली थी. उनकी किडनी में खराबी थी और, कई बीमारियों से जूझते हुए अटल जी की मृत्यु हुई.
बीसीसीआई से लेकर सचिन तेंदुलकर और क्रिकेट जगत के अन्य व्यक्तियों ने दुख ट्विटर पर साझा किया.

 

यहां हैं वे ट्वीटस :

 

रोहित शर्मा के साथ पूर्णतः समर्थित, यह सप्ताह भारत के लिए काफी खराब रहा.

 

 

अटल बिहारी वाजपेयी जी ने भारत को तीन बार प्रधानमन्त्री के रूप में सेवाये दीं. भारतीय क्रिकेट जगत ने ट्विटर पर करोड़ो भारतीय लोगों का दुख जाहिर किया. यह राष्ट्र के लिए एक कभी न भूलने वाली घटना हैं. अटल बिहारी वाजपेयी जी भारतीय राजनीति के एक महान राजनेता थे. एक बार पाकिस्तान दौरे पर जा रही भारतीय टीम से निजी तौर पर उन्होने सौरव गांगुली से मिलकर कहा था कि, “केवल खेल ही नहीं, अपितु दिल भी जीतें.” दादा गांगुली इन शब्दों से काफी ज्यादा प्रेरित हुए और उन्होने आश्वाशन दिया कि वे ऐसा ही करेंगे. हरेक व्यक्ति जो अटल जी के कार्यों से प्रेरित है वो इस दुखद घटना से काफी दुखी है. उनकी महानता को पीढ़ियों तक याद रखा जायेगा.

 

भारत के महान नेता, दूरदर्शी व्यक्ति, और एक महान कवि को हृदयी श्रद्धांजलि. अटल बिहारी वाजपेयी जी करोड़ो लोगों के मार्गदर्शक रहेंगे, और उनके आदर्शों पर चलकर लोग देश को बेहतर बनाएँगे.