भारत और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की T20 सीरीज़ का पहला मैच 04 नंवबर को कोलकाता के ऐतिहासिक ईडन गार्डन मैदान पर खेला गया। फॉर्मेट और मैदान बदलने के बावजूद मेहमान टीम के लिए मैच का नतीजा कुछ अधिक नही बदला और एक बार फिर वेस्टइंडीज को हार का सामना करना पड़ा।

टॉस जीत कर भारत का फैसला सही साबित हुआ

T20 सीरीज़ में भारत की कप्तानी कर रहे रोहित शर्मा ने टॉस जीत कर पहले गेंदबाज़ी का फैसला किया। भारतीय गेंदबाज़ कप्तान रोहित के भरोसे पर बिल्कुल खड़े उतरते हुए तीसरे ओवर से ही झटके देने शुरू कर दिए। वेस्टइंडीज का पहला वीकेट सिर्फ 16 रन पर गिर गया।


भारतीय टीम ने वेस्टइंडीज के बल्लेबाजों को बिल्कुल भी हाथ होलने का मौका नही दिया जिसका नतीजा रहा की वेस्टइंडीज के वीकेट नियमित अंतराल पर जाते रहे। वेस्टइंडीज की आधी टीम पारी के आधे ओवर खत्म होने तक 49 रन पर ही पवेलियन लौट गए।

झटकों के बीच किसी तरह फैबियन एलेन के 27 रन और कीमो पॉल के 15 रन के बल पर 20 ओवर में 8 वीकेट खो कर वेस्टइंडीज 109 रन बनाने में कामयाब रहा। भारत की ओर से सबसे कामयाब गेंदबाज़ 4 ओवर में 13 रन दे कर 3 वीकेट लेने वाले कुलदीप यादव रहें।

 

 

लड़खड़ाने के बावजूद संभली भारतीय टीम

आसान लग रहे 110 रन के लक्ष्य के सामने भारतीय टीम की ओर से रोहित और शिखर धवन ने पारी की शुरुआत की। रोहित जल्दी ही चलते बने इसके बाद शिखर धवन का बल्ला वनडे के बाद पहले T20 में भी खामोश ही रहा। धवन केवल 3 रन बना कर आउट हो गए।


इसके बाद लोकेश राहुल और ऋषभ पंत भी कमाल करने में नाकाम रहे और दोनो जल्दी ही निपट गए और भारतीय टीम 45 रन पर 4 वीकेट खो कर मुश्किल में लग रही थी। इसके बाद मोर्चा मनीष पांडे और दिनेश कार्तिक ने संभाल कर टीम को मुश्किल से निकाला। अंत में कार्तिक और अपना पहला मैच खेल रहे करुनल पांड्या टीम को जीत तक ले जाने में कामयाब रहे।