टेस्ट क्रिकेट को बचाए रखने के लिए वर्ल्ड चैम्पियनशिप बहुत ज़रूरी – माइक हेसन

न्यूज़ीलैंड टीम के मुख्य कोच रह चुके माइक हेसन ने सोमवार को आयोजित एक कार्यक्रम में बात करते हुए प्रस्तावित वर्ल्ड चैम्पियनशिप के आयोजन पर ज़ोर दिया। माइक ने कहा की टेस्ट क्रिकेट के अस्तित्व और महत्व को बचाए रखने के लिए वर्ल्ड चैम्पियनशिप बहुत ही ज़रुरी है।

माइक स्टार स्पोर्ट्स चैनल द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बात कर रहे थे। इन्होंने आगे कहा की टेस्ट क्रिकेट तब तक बचा रहेगा जब तक इसमें रोमांच बाकी है। वर्ल्ड चैम्पियनशिप ऐसा आयोजन साबित हो सकता है जिससे की टेस्ट क्रिकेट लंबे समय तक बचा रह सकता है।

हेसन ने आगे कहा कि अगर सिर्फ इसी तरह द्विपक्षीय टेस्ट सीरीज़ खेले जाते रहें तो समय के साथ – साथ टेस्ट क्रिकेट का महत्व ही खत्म हो जाएगा। इसलिए टेस्ट क्रिकेट के बचाए रखने के लिए ज़रुरी है की इसमें प्रतिस्पर्धा को और बढ़ाया जाए। वर्ल्ड चैम्पियनशिप के द्वारा निश्चित ही टेस्ट क्रिकेट में प्रतिस्पर्धा बढ़ जाएगी।

44 साल के माइक हेसन 6 साल तक न्यूज़ीलैंड टीम के कोच रहे थे और फिलहाल वह इस बार आईपीएल की टीम किंग्स एलेवन पंजाब के मुख्य कोच नियुक्त किए गए हैं। टेस्ट क्रिकेट की मौजूदा स्तिथि पर बात करते हुए उन्होंने कहा की अभी भी टेस्ट क्रिकेट बड़ी संख्या में लोगों को अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

 

हालांकी इस समय लोगों को ज़रूर लग रहा है की टेस्ट क्रिकेट गायब हो रहा है लेकिन ऐसा नही है। अभी भी खिलाड़ी अपने देश के लिए टेस्ट क्रिकेट खेलना पसंद करते हैं। वर्ल्ड चैम्पियनशिप जैसे टुर्नामेंट के आ जाने से टेस्ट क्रिकेट में नई जान आ जाएगी तथा और भी लोग टेस्ट क्रिकेट से जुड़ने लगेंगे।

ICC द्वारा आयोजित होने वाले वर्ल्ड चैम्पियनशिप की बास्त करें तो यह प्रस्तावित टुर्नामेंट 2019 के एकदिवसीय वर्ल्ड कप के तुरंत बाद ही शुरू हो जाएगा। यह टुर्नामेंट लगभग दो साल तक चलेगा जिसमें टेस्ट क्रिकेट के पॉइंट टेबल की टॉप की 9 टिमें इन दो सालों में एक दूसरे के खिलाफ अपने घरेलू और बाहरी मैदान पर कुल 6 सीरीज़ खेलेगी। अंत में पॉइंट टेबल में पहले 2 स्थान पर रहने वाली टिमें इस वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल में 2021 में भिड़ेगी।

Previous Article
Next Article

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *