September 21, 2018
| On 7 महीना ago

लंच में हुई देरी से जानिये कैसे धोनी ने जाधव की प्रतिभा को पहचाना!

By Vandana Mrigwani
भरोसेमंद गेंदबाज बनकर उभरे हैं केदार जाधव

केदार जाधव भारतीय टीम में भरोसेमंद गेंदबाज बनकर उभरे हैं. उनकी अनओर्थोडोक्स स्पिन गेंदबाजी ने टीम को गेंदबाज के रूप में एक अतिरिक्त विकल्प भी दिया है और वे लगातार विकेट चटकाकर भरोसेमंद गेंदबाज के रूप में भी उभर रहे हैं.

जाधव अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पर एक भरोसेमंद और विकेट लेने वाले गेंदबाज के रूप में उभर रहे हैं पर उन्होने घरेलू क्रिकेट में न के बराबर गेंदबाजी की है. और घरेलू क्रिकेट में उनके नाम केवल एक विकेट है. तो ऐसा क्या हुआ जब आक्रामक मध्य क्रम का बल्लेबाज, भरोसेमंद गेंदबाज बन गया?

धोनी ने जाधव की प्रतिभा को पहली बार पहचाना था

भारतीय क्रिकेटर ने मीडिया को संबोधित करते हुए बताया कि वे किस प्रकार गेंदबाज के तौर पर उभरे. जाधव ने बताया कि यह सब धर्मशाला में होने वाले न्यूज़ीलैंड के खिलाफ एकदिवसीय से पहले अभ्यास सत्र में हुआ.
अभ्यास सत्र के दौरान सभी खिलाड़ी अभ्यास कर चुके थे और अभ्यास सत्र ख़त्म होने वाला था. इसी बीच कुछ कारणों से लंच को डीलेय कर दिया गया जिसके बाद भारतीय खिलाड़ियों को अभ्यास जारी रखने के निर्देश दिए गए. इस बीच मुख्य स्पिन गेंदबाज अक्षर पटेल और अमित मिश्रा के साथ केदार जाधव को भी गेंदबाजी के लिए कहा गया.

उस सत्र में जाधव ने महेंद्र सिंह धोनी को गेंदबाजी की जहां धोनी ने उनकी प्रतिभा को पहचाना. उस शृंखला में साझेदारीयों को तोड़ने के लिए केदार जाधव की गेंदबाजी का प्रयोग किया गया. और उस शृंखला में अच्छा प्रदर्शन करके केदार जाधव भारत की मध्य क्रम की योजनाओं का हिस्सा बन गये.

योजनाओं से अलग फैसले लेने में माहिर हैं धोनी

यह पहली बार नहीं था जब धोनी ने योजना से अलग कोई फैसला लिया. 2013 में भी धोनी ने रोहित शर्मा को सलामी बल्लेबाजी की जिम्मेदारी सौंप कर योजना से अलग फैसला लिया था. उस घटना के बाद से रोहित शर्मा उम्दा सलामी बल्लेबाज बनकर उभरे हैं और अब तक 3 दोहरे शतक भी लगा चुके हैं. अंबाती रायुडू के साथ भी यही हुआ. धोनी की कप्तानी में उन्होने आइपीएल का सबसे अच्छा प्रदर्शन किया.

जसप्रीत बूमराह का टॉप रैंकिंग में पहुंचने का सफर भी धोनी से ही शुरू हुआ था, और धोनी ही थे जिन्होने बूमराह की प्रतिभा को पहचाना था.
गेंदबाजी के बारे में बात करते हुए जाधव ने कहा कि धोनी ने उन्हे गेंदबाजी करने के लिए कहा था, और उसके बाद से उनकी ज़िन्दगी पूरी तरह बदल गई.
Vandana Mrigwani