बूमराह को अपने नो बॉल वाली मसले पर मेहनत करनी होगी : सुनील गावस्कर 

 

भारतीय गेंदबाजी ने दुबारा शानदार प्रदर्शन किया. चौथे टेस्ट मैच के पहले दिन सभी गेंदबाज लय में नज़र आए और, और इंग्लैंड की पूरी लाइन अप को ध्वस्त कर दिया.

 

जसप्रीत बूमराह ने कुल तीन विकेट किए और गेंदबाजों ने इंग्लैंड को 246 पर चलता कर दिया. हालांकि एक मौका आया मैदान पर जब बूमराह नो बॉल फेंक बैठे.

 

गौरतलब है कि उनकी उस बॉल पर जो रूट को नोट आउट करार दिया था, पर वो गेंद काफी अच्छी थी, और भारतीय टीम ने उसपर रिव्यू लिया. सभी को लग रहा था कि इसपर बल्लेबाज आउट होंगे, पर हुआ इसके उलट, बूमराह गेंद फेंकते वक़्त क्रीज से बाहर निकल गए थे. हालांकि उसके बाद इशांत शर्मा ने जो रूट को आउट कर दिया था, पर भारतीय पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने कहा कि बूमराह को ध्यान देना होगा.

 

बूमराह ने अपनी गेंदबाजी से सलामी बल्लेबाज कीटों जेंनिंग को आउट किया, और लगभग रूट भी आउट हो ही चुके थे, पर रिव्यू भी खराब हुआ और विकेट भी नहीं हासिल किया जा सका.

 

गावस्कर ने टीओआई के एक आर्टिकल में लिखा कि, “ये कुछ ऐसा है जिस पर बूमराह को ध्यान देना चाहिए. यह केवल उनके लिए ही नहीं टीम के लिए भी परेशानी का सबब बन सकता है. यहां आपके हाथों से एक विकेट चला गया, बस कदम बाहर करने के कारण.”

 

बूमराह को नो बॉल फेंकने के लिए काफी ज्यादा ट्रॉल किया गया, गौरतलब है कि उन्होने ट्रेंट ब्रिज के मुकाबले में भी नॉ बॉल फेंकी थी.

 

भारत उस मुकाबले को चौथे दिन ही खत्म कर सकता था, पर बूमराह की नो बॉल के कारण, वह मुकाबला पांचवे दिन चला गया. गौरतलब है कि बूमराह ने अदिल राशिद का विकेट ले लिया था, पर बाद में उसे नो बॉल घोषित किया और अदिल राशिद नाबाद हो गए. सुनील गावस्कर ने दस विकेट लेने पर भारतीय गेंदबाजों की तारीफ की.

 

उन्होने लिखा कि, ” भारतीय गेंदबाजों ने इंग्लैंड के बल्लेबाजों पर दबाव बना के रखा था. पिच देखकर लग रहा था कि यह बल्लेबाजी के लिए अच्छी पिच है. हालांकि गेंदबाजों की ओर से यह अच्छी गेंदबाजी थी, जिससे अच्छी पिच पर भी बल्लेबाज आसानी से चलता हो गए.”