पूर्व ऑस्ट्रेलियन विकेटकीपर एडम गिलक्रिस्ट ने भारतीय टीम के मौजूदा विकेटकीपर, ऋषभ पंत के लिए उम्मीद जताई हैं. उन्होने कहा कि पंत आने वाले वक़्त में निश्चित ही अच्छा करेंगे, यदि आप खिलाड़ियों पर करियर की शुरुआत में निर्णय थोपेंगे तो यह उनकी मानसिक पटल पर घात करेगा.

 

पुणे में एक प्रोमोशनल ब्रांड के एवेंट में गिलक्रिस्ट ने भारतीय विकेट कीपिंग विकल्पों पर बातचीत की. उन्होने कहा कि मैं यह मानता हू की महेंद्र सिंह धोनी के सन्यास के बाद टीम पर खासा असर पड़ा है, और मैनेजमेंट को काफी समय लगेगा उनकी रिप्लेसमेंट ढूंढने में.

 

एडम गिलक्रिस्ट ने कहा कि खिलाड़ियों पर दबाव बनाना उनके प्रदर्शन में कमी करता है. हम यह उम्मीद कर सकते हैं कि पंत टेस्ट में अच्छा करेंगे.

 

पूर्व बाएं हाथ के खिलाड़ी ने शेन वॉर्न का उदाहरण देते हुए समझाया. यह शेन वॉर्न की तरह ही है. ऑस्ट्रेलियन खिलाड़ी ने कहा कि शेन वॉर्न के जाने से ऑस्ट्रेलिया के टीम में काफी खालीपन आ गया है, और शेन वॉर्न की काबिलियत जिसे रिप्लेस करना लगभग नामुमकिन है, इसका कारण है.
एडम गिलक्रिस्ट ने कहा कि, भारत के साथ भी यही हुई था जब चारो बड़े बल्लेबाजों ने सन्यास ले लिया था. उनकी जगह को भरना काफी मुश्किल है, और धोनी जैसा विकेटकीपर बल्लेबाज पाना और भी मुश्किल.

 

दिनेश कार्तिक को रिद्धिमान साहा कि जगह शामिल किया गया, और ऋषभ पंत को फिर दिनेश कार्तिक की जगह टीम में मिली. पंत ने अपने डेब्यू मैच में खासा धमाल मचाया और अपनी दूसरी ही गेंद में लंबा छह जड़कर उन्होने रिकॉर्ड बना लिया,उसके बाद रिकॉर्ड कैच लेने का भी रिकॉर्ड उन्होने अपने नाम किया.

 

हालांकि पहले मैच के बाद पंत का रिकॉर्ड केवल खराब हुआ है, वे पहले मुकाबले जैसा प्रदर्शन करने में नाकामयाब रहे हैं. उनकी बल्लेबाजी को भी स्कैनर के अंडर पाया गया. मौजूदा टेस्ट मैच में भारत ने 35 रन केवल बाइस के दिए, जो कि टेस्ट इतिहास में सबसे ज्यादा है.

 

चूंकि तीनों कीपर एक जैसा ही प्रदर्शन कर रहे हैं, देखना यह होगा कि किसे ऑस्ट्रेलिया में कीपिंग के लिए उतारा जाता है. एडम गिलक्रिस्ट के अनुसार पंत को मौके मिलने चाहिए.