इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला हारने के बाद टीम इंडिया को सभी कोनों से आलोचना मिल रही है। पूर्व भारतीय
क्रिकेटर हरभजन सिंह ने भी टीम की आलोचना की है और उन्होंने भारत के नुकसान के लिए आर अश्विन को दोषी
ठहराया है।

हरभजन के अनुसार, चौथे टेस्ट की दूसरी पारी में अश्विन को विकेट ने मिलने पर इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने एक
बड़ा स्कोर खड़ा किया जो की भारतीय बल्लेबाजों की पहुंच से बाहर था। हरभजन ने कहा कि अश्विन के सिर्फ
2 या 3 विकेट लेने काफी होते,उनका 5 विकेट लेना भी जरुरी नहीं था ​​ अगर वो ऐसा कर पाते तो इंडिया को सिर्फ
160-170 रन का पीछा करना होता जो कि आसान था|

 


हरभजन जब एक समाचार चैनल के साथ बात कर रहे थे तब उन्होंने अश्विन की परफॉरमेंस का विश्लेषण किया और
उन्हें भारत की हार के लिए दोषी ठहराया। हरभजन ने बताया कि ऑफ स्पिनरों के लिए पिच काफी अच्छी थी जिससे
स्पिनर्स को काफी मदद मिली । उन्होंने कहा की पिच के एक रूखे भाग पर अगर वो गेंदबाजी करते तो उन्हें काफी
विकेट्स मिल सकती थी । उन्होंने मोइन अली का उदाहरण दिया जिन्होंने टेस्ट में नौ विकेट लिए। हरभजन ने कहा
कि मोईन अली ने ये सब ही किया जिस वजह से उन्हें इतने विकेट्स मिले।

 

हरभजन की निराशा स्पष्ट रूप से देखी गई क्योंकि उन्होंने कहा कि पहली बार उन्होंने इंग्लैंड के स्पिनरों को अपने
स्पिनरों से बेहतर गेंदबाजी करते हुए देखा ।

हालांकि, पूर्व भारतीय स्पिनर ने अश्विन के गौरवशाली अतीत और उनके पिछले प्रदर्शनों के बारे में सभी को याद
दिलाया। उन्होंने कहा कि अश्विन एक महान गेंदबाज हैं और उन्होंने भारत के लिए इतना कुछ हासिल किया है।
लेकिन हरभजन ने यह भी कहा कि अश्विन तीसरे दिन विकेट लेने मे असफल रहे जब विकेट्स की सबसे ज्यादा
जरुरत थी |

अश्विन की चोट और उस चोट की वजह से उनका प्रदर्शन खराब हुआ इस सवाल के पूछे जाने पर
भज्जी ने कहा की वो नहीं जानते कि अश्विन की चोट कितनी गंभीर है और अगर गंभीर है तो टीम
मैनेजमेंट को इसके बारे मे पता होना चाहिए था |

उसी समय, हरभजन ने मोईन अली की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मोईन टीम में वापसी कर रहे थे और उन्होंने मैन
ऑफ द मैच का पुरस्कार जीता। मोएन की गेंदबाजी के बारे में बात करते हुए, भारतीय स्पिनर ने कहा कि मोएन एक
बहुत अच्छा गेंदबाज है, हालांकि वह खुद को इतना ज्यादा रेट नहीं करता है और वह हमेशा बाकी की तुलना में बेहतर
गेंदबाजी करेगा क्योंकि उसका गेंदबाजी करने का अंदाज़ बहुत अच्छा है।