चेतेश्वर पुजारा ने चौथे टेस्ट मैच के दूसरे दिन इंग्लैंड के खिलाफ अपना 15वां शतक जड़ा. यह मुकाबला साउथंपटन में खेला जा रहा है, और भारत ने दूसरी पारी में कुल 273 रन बनाए.

 

30 वर्षीय बल्लेबाज ने टीम को ह्रास होने से बचाया, गौरतलब है कि मोइन अली के फाइफर के बाद पारी 195/8 हो गई थी.
भारत इंग्लैंड के स्कोर से 50 रन की दूरी पर था, जब उनका आठवां विकेट गिरा. सभी को लगा कि पारी का अंत जल्दी ही जाएगा.

 

लेकिन तब पुजारा ने एक छोर से युद्ध जारी रखा और मजबूत बल्लेबाजी के साथ 27 रनों की बढ़त भारत को दिलवाई.
पुजारा का इंग्लैंड में पहला शतक उनके लिए काफी प्रोत्साहन लेकर आया. मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने ट्विटर पर कहा कि, ” एकाग्र पुजारा की बल्लेबाजी देखना काफी, लुभावना और मजेदार होता है.”

 

सहवाग ने भी ट्विटर का सहारा लेते हुए पुकारा की तारीफ की, उन्होने कहा कि, ” यह काफी अलग स्तर की पारी थी, पुजारा की पारी कमाल की थी. इसे काफी समय तक याद रखा जाएगा. उन्होने 78 रन बूमराह और इशांत के साथ जोड़े. अब भारत को अच्छी गेंदबाजी करनी होगी. “

 

यहां देखिये कैसे ट्विटर ने प्रतिक्रिया दी

 

पूरा वक़्त क्रीज पर रहने के बावजूद पुजारा ने केवल 9 प्रतिशत ही गलत शॉट खेले. रहाणे के ट्रेंट ब्रिज वाले प्रदर्शन के बाद यह दूसरे नंबर पर आता है.

 

उन्होने अपनी 132 रनों की नाबाद पारी में 16 रन मारे.

 

यह पुजारा का इंग्लैंड के खिलाफ 15वां शतक था. वे इंग्लैंड के खिलाफ सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले भारतीयों में पांचवे नंबर पर आ गये हैं. केवल राहुल द्रविड़ (7), सचिन तेंदुलकर (7), मोहम्मद अज़हर(6) उनसे आगे हैं.

 

चेतेश्वर पुजारा को पहले मैच में बाहर बैठाया गया था. उनकी जगह के एल राहुल को खिलाया गया था. दूसरे टेस्ट मैच में, उन्होने केवल 18 रन बनाए, तीसरे मुकाबले में उन्होने अर्ध शतक लगाया और चौथे मुकाबले में नाबाद शतक. उन्होने यह दर्शा दिया कि वे क्युं इस प्रारूप में भारत के विश्वसनीय बल्लेबाज हैं.