भारतीय टीम इंग्लैंड में तीन मुकाबले हार कर सीरीज गवां चुकी है, पर भारतीय खिलाड़ियों ने रैंकिंग में अपना दबदबा कायम रखा है.

 

हालांकि भारतीय टीम जरूरी लम्हों पर मैच को पकड़ पाने में नाकामयाब हुई, पर कुछ खिलाड़ियों के व्यक्तिगत प्रदर्शन के कारण टीम इंडिया ने इंग्लैंड को उसकी जमीन पर कांटे की टक्कर दी. भारतीय क्रिकेट टीम की धुरी, कप्तान कोहली ने कुल 544 रन बनाए, और आठ पारियों में बनाए इन रनों के कारण वे टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज हैं.

 

कोहली 937 अंकों के साथ शीर्ष पर काबिज हैं, और यह उनके करियर के बेस्ट अंक हैं, रैंकिंग में पॉइंट्स के मामले में कोहली नंबर 11वें बल्लेबाज हैं.

 

चौथे टेस्ट मैच में भारतीय कप्तान ने, 46 और 58 रन बनाए थे, इन रनों के कारण स्टीव स्मिथ और उनके बीच का अंतर काफी ज्यादा हो गया, और स्मिथ 929 पर ही रह गए.

 

 

तथ्यों के अनुसार स्टीव स्मिथ कुछ महीनों के लिए निलंबित हैं तो उनकी वापसी मुश्किल हैं, और तीसरे नंबर के बल्लेबाज केन विलियम्सन 844 अंक लेकर, कोहली को काफी वक़्त तक नहीं पछाड़ सकते.

 

भारतीय गेंदबाजों ने काफी शानदार प्रदर्शन किया, और मोहम्मद शमी काफी प्रभावी गेंदबाज थे. उन्होने चौथे टेस्ट मैच में कुल, 6 विकेट लिये. इस एफर्ट के कारण वे टॉप 20 में वापसी करने में सफल हुए. अभी वे 19वें स्थान पर हैं. इशांत शर्मा 25वें स्थान पर हैं, और बूमराह 37वें स्थान पर 487 अंक लेकर खड़े हैं.

 

चेतेश्‍वर पुजारा ने चौथे टेस्ट की पहली पारी में शतक लगाया था, जिसके कारण उन्हे रैंकिंग बढ़ाने में मदद मिली. वे सिक्स्थ स्पॉट पर काबिज हैं. कोहली के सिवाय वे एकमात्र भारतीय बल्लेबाज हैं जो टॉप 10 में शामिल हैं.

 

इंग्लैंड के खिलाड़ियों ने भी अच्छा प्रदर्शन करके रैंकिंग में बदलाव किए हैं. मोइन अली ने 33वें स्थान पर जगह बनाई अच्छा प्रदर्शन करके. उन्हे नौ विकेट लेने के कारण, मैंन ऑफ द मैच का पुरूस्कार भी मिला.

 

सैम करन को उनकी मैच जिताऊ नोक के कारण, 43वें स्थान पर जगह मिली. जोस बटलर को ३२वा स्थान प्राप्त हुआ. यह उनके करियर की बेस्ट रैंकिंग है.