दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ अनौपचारिक टेस्ट मैच में पृथ्वी शा ने अपने शानदार शतक की मदद से दर्शकों का ध्यान अपनी ओर खींचा. गौरतलब है कि रविवार को खेले गए इस मुकाबले में शा ने 136 रनों की पारी खेली. अपने कप्तानी के पहले दिन से ही शा अच्छा खेल रहे हैं और भविष्य की ओर कदम बढ़ा रहे हैं.

 

पृथ्वी शा ने इस आईपीएल में भी शानदार प्रदर्शन किया था और विश्व के महान गेंदबाजों के सामने  बड़ी आसानी से अच्छे स्ट्राइक रेट के साथ बल्लेबाजी की. पृथ्वी ने अपनी आईपीएल की शानदार फ़ॉर्म को भारत ए की ओर से खेलते हुए बरकरार रखा और अपने करियर का एक और शतक ठोक दिया. अनौपचारिक स्तर पर शा अपनी क्रिकेट क्षमता का अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. उन्होने इंग्लैंड ए के खिलाफ खेलते हुए दस पारियों में कुल 603 रन बनाए, जिनका श्रेय उन्होने कोच राहुल द्रविड़ को दिया.

 

पृथ्वी के अनुसार राहुल ने उन्हे खेल समझने में काफी मदद की. पृथ्वी के अनुसार राहुल ने उन्हे विकेट पर रुकना और बड़े शतक बनाने के लिए काफी मददगार सलाह दी. पृथ्वी ने कहा कि बड़े स्तर पर सफलता के लिए आपको धैर्य रखना पड़ता है. पृथ्वी शा के स्ट्रोक खेलने की क्षमता और खेल में बने रहने की काबिलियत लाजवाब है. उसने अपनी शानदार का बल्लेबाजी का नमूना पेश करते हुए 136 रन लगाए जिसमें 20 चौके और 1 छह था.

 

शा ने एक इंटरव्यू में बताया कि वे शुरुआत से एक आक्रामक खिलाड़ी थे और स्कूल के दिनों से ही वे गेंद को बाउंड्री के बाहर पहुंचाने की कोशिस करते थे. वे गेंद को उसकी गुणवत्ता के अनुसार खेलते थे. उनकी फ़ॉर्म लगातार रहती थी, जो कि अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट की सबसे बड़ी जरूरत है. इंग्लैंड दौरे के बारे में शा ने कहा कि मैं लोगों की नहीं सुनता और सारा ध्यान खेल पर देता हूँ.