वेस्ट इंडीज की टेस्ट श्रृंखला हैं नए खिलाड़ियों के लिए मौका :- संजय मांजरेकर 

 

पूर्व भारतीय खिलाड़ी संजय मांजरेकर का मानना है कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला नए खिलाड़ियों के लिए खुद को साबित करने का मौका है| गौरतलब है कि मांजरेकर ने कहा कि मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शा जैसे खिलाड़ियों को इस टेस्ट श्रृंखला में मौका मिलना चाहिए| मांजरेकर के अनुसार इन खिलाड़ियों को मौका देने के लिए चेतेश्वर पुजारा को आराम देना चाहिए|

 

घरेलू मुकाबलों को अभ्यास मुकाबलों की तरह समझे :- मांजरेकर 
मांजरेकर ने एक अखबार के लिए लिखे गए कॉलम में कहा कि भारतीय टीम को घरेलू मुकाबलों को अभ्यास मुकाबलों को तरह खेलना चाहिए. गौरतलब है कि भारत का मौजूदा समय में विदेशी जमीन पर प्रदर्शनी काफी खराब रहा है| मांजरेकर के अनुसार भारत इन मुकाबलों को अभ्यास मुकाबलों की तरह खेलकर, विदेशी मुकाबलों के लिए अभ्यास कर सकता है|

 

उन्होने आगे कहा कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ यह दो टेस्ट मैच, ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले अभ्यास के तौर पर देखे जा सकते हैं| इन मुकाबलों से सही टीम संयोजन का पता लगेगा और खिलाड़ी नियंत्रण पर काम कर पाएंगे|

 

उन्होने यह भी कहा कि वे किसी भी प्रकार से वेस्ट इंडीज को कमजोर टीम नहीं बता रहे, न ही वे यह कह रहे है कि वेस्ट इंडीज के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला महत्वपूर्ण नहीं है| पर उन्हे लगता है कि इसे अभ्यास टेस्ट श्रृंखला की तरह खेलने से भारत से बाहर खेलने के लिए मदद मिलेगी|

 

मांजरेकर ने आगे कहा कि भारत ने पिछले कई सालों में काफी कुछ हासिल किया है और लगातार अच्छा प्रदर्शन किया है पर विदेशी पिच पर जीत भी जरूरी है|
मांजरेकर ने पूछा कि, क्या पुजारा को वेस्ट इंडीज के खिलाफ खिलाकर भारत को कोई फायदा होगा?

 

मांजरेकर ने कहा कि पुजारा वेस्ट इंडीज के खिलाफ काफी रन बनाएंगे, जैसा कि वे हमेशा घरेलू टेस्ट श्रृंखला में करते हैं. उन्हे ऐसा भी लगता है कि पुजारा ऑस्ट्रेलिया में भी काफी रन बनाएंगे क्यूंकि वे भारत की ओर से नंबर तीन की जगह पर लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं|

 

हालांकि उसके बाद मांजरेकर ने यह भी पूछा कि क्या पुकारा को खिलाकर भारत कुछ हासिल कर सकता है? मांजरेकर ने कहा कि अगर हम पुजारा की जगह कुछ और नए खिलाड़ियों को खिलाते तब हमें नई प्रतिभा का पता चलता और हमारे अतिरिक्त खिलाती बढ़ते|