खेल रत्न प्राप्त करने वाले कोहली तीसरे खिलाड़ी 

 

भारतीय क्रिकेटर विराट कोहली को खेल रत्न मिलने की घोषणा हो चुकी है, गौरतलब है कि वे 28वें खिलाड़ी हैं जिन्हे यह सम्मान मिलेगा.
खेल रत्न उन खिलाड़ियों को दिया जाता है जिन्होने बीते चार वर्षों में अन्तराष्ट्रीय स्तर पर भारत के लिए लगातार अच्छा प्रदर्शन किया हो.

 

गौरतलब है कि कोहली पिछले कई वर्षों में उम्दा प्रदर्शन करते आए हैं और उन्होने कई रिकॉर्ड तोड़े और बनाए हैं. मौजूदा समय में आईसीसी एकदिवसीय और टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक बल्लेबाज हैं.

कोहली से पहले अब तक केवल दो ही बल्लेबाजों को इस अवार्ड से नवाजा गया है.
सचिन तेंदुलकर, पहले खिलाड़ी जिन्हे खेल रत्न से सम्मानित किया गया है 
खेल रत्न देने की शुरुआत 1991 में हुई थी और उसके छह वर्षों के बाद पहली बार किसी क्रिकेटर को खेल रत्न दिया गया था. वो क्रिकेटर भारत रत्न सचिन तेंदुलकर थे.

 

इक्कीसवीं सदी के सबसे महान बल्लेबाज कहे जाने वाले सचिन तेंडुलकर का करियर लगभग दो दशक तक चला था. गौरतलब है कि सचिन ने अपने लंबे करियर के दौरान टेस्ट और एकदिवसीय क्रिकेट में कुल 100 शतक लगाए थे. वे टेस्ट क्रिकेट और एकदिवसीय क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. अपने करियर के दौरान सचिन ने कई बार अकेले दम पर मैच जीताए और गेंदबाजों के लिए वे बुरा सपना माने जाते थे. गेंदबाजों के लिए सचिन को आउट करना कभी आसान नहीं रहा.

 

1997-98 में खेल रत्न प्राप्त करने के बाद सचिन को भारत रत्न से भी सम्मानित किया गया था. गौरतलब है कि यह सबसे बड़ा भारतीय सम्मान है.
विश्व कप विजेता कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भी मिला है खेल रत्न 

 

सचिन तेंदुलकर के बाद, महेंद्र सिंह धोनी को 2007 में खेल रत्न से नवाजा गया था.

 

महेंद्र सिंह धोनी अब तक भारत के सबसे सफल कप्तान हैं. उन्होने 50 ओवर का विश्व कप, 2 बार एशिया कप, 1 बार टी20 विश्वकप जीता है. 2013 में भारत ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में चैंपियन ट्रॉफी भी जीती थी.
धोनी को टी20 विश्वकप में एक युवा टीम को विश्वविजेता बनाने के लिए खेल रत्न दिया गया था. गौरतलब है कि यह अनुभवहीन टीम थी और धोनी ने अपनी सूझ बूझ से रोमांचक मुकाबलों में भारत को जीत की दहलीज पार कराई थी.