सभी के लिए बुरा दिन था,
भारतीय कप्तान विराट कोहली ने  महेंद्र सिंह धोनी का बचाव करते हुए कहा कि, “यह हम सभी के लिए एक बुरा दिन था.
लॉर्ड्स के सभी दर्शकों ने भारतीय स्लो इननिंग का जिम्मेदार महेंद्र सिंह धोनी को बताया है. गौरतलब है कि भारतीय टीम में यह मुकाबला 86 रनों से खो दिया.
पूर्व कप्तान, कि फिनिशिंग क्षमता पर सवाल उठाए गए. उन्होने नंबर 6 पर आते हुए 59 गेंद पर केवल 37 रन बनाए. जिसमे केवल दो चौके शामिल थे, और वे 47वें ओवर में आउट हो गए थे.
हमारे पास विकेट नहीं बचे थे :- कोहली 
“हमने शुरुआत अच्छी की थी, पर तीन ओवर में तीन विकेट खोने के बाद, मैच हारना बुरा लगता है.”
“जब आप 320 से ऊपर का टारगेट चेस कर रहे हो तो, आपके हाथों में विकेट बचे होने जरूरी है.”
धोनी की धीमी पारी पर कोहली ने कहा कि, “यह अक्सर होता है लोग क्षण भर में नतीजों पर पहुंच जाते है. जब वे अच्छा करते है तब उन्हे बेस्ट फिनिशर कहा जाता है, जब वे खराब प्रदर्शन करते है तब लोग उनपर इल्जाम लगाना शुरू कर देते हैं. “
” यह हम सभी के लिए बुरा दिन था, केवल उनके लिए ही नहीं.”
.
हमे मिस्टर फिनिशर पर पूरा भरोसा है :
कोहली ने यह भी कहा कि धोनी की धीमी पारी की भी कोई गलती नहीं है. उन्होने कहा कि,” वे हमेशा पारी को गहराई तक ले जाते हैं. उनके पास इसका अनुभव है, पर कभी कभी परिस्थितियां आपके साथ नहीं होती. हम अब भी उनकी काबिलियत पर पूरा यकीन रखते है, और सभी खिलाड़ियों की काबिलियत पर हमे पूरा यकीन है.”
गौरतलब यह है कि धोनी नें उसी मैच में अपने एकदिवसीय कैरियर में 10,000 रनों का आंकड़ा पार किया था. पर अधिकांश लोगो नें सराहना करने के बजाय, उन पर दोषारोपण का सिलसिला जारी रखा.
विश्वकप अगले एक वर्ष में शुरू हो जाएगा. टीम की नजरे धोनी पर रहेंगी,क्योकि फिलहाल टीम में वे सबसे अनुभवी खिलाड़ी है, और उनमे जीत दिलाने की काबिलियत है.
हालांकि, उनकी मैच जिताने की क्षमता कई बार स्कैनर के नीचे आई है.
पर यह कभी कभी ही होता है कि भारतीय फैंस धोनी से इस कदर नाराज हुए हों.