भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट के तीसरे मुकाबले में भारत ने अपनी पकड़ मजबूत कर ली है. भारत अब केवल एक विकेट की दूरी पर है और 2-1 से वह सिरीज में वापसी कर लेगा. इस अति प्रतीक्षित जीत के लिए अब बस एक विकेट और लेना है. सारी प्रशंसा जास्प्रित बूमराह को मिलनी चाहिये.

 

जोश बटलर ने जब अपना पहला शतक लगा लिया तब विराट ने गेंद को बूमराह की ओर फेंका. गेंदबाजी का जिम्मा मिलने पर बूमराह ने अपनी इन स्विंग गेंद फेंकनी शुरू कर दी. बटलर ने गेंद छोड़ी और वो एल डब्लू आउट हो गए. अंपायर ने इसे डिसिजन रिव्यू के लिए भेजा. इसके बाद बूमराह ने काफी उत्साह से सेलिब्रेट किया.

अगली ही गेंद पर बूमराह ने पिछली गेंद को दोहराते हुए चोटिल जॉनी बेयरस्तो को भी चलता कर दिया. टीम जीत के करीब आकर उत्साह पूर्वक सेलिब्रेशन जारी रख रही थी. बूमराह हैट्रिक तो नहीं ले पाये पर जीत के पास पहुंचने के लिए वोक्स को चलता कर दिया. लगातार विकेट गिरते हुए भी भारत के लिए दिन के अंत में कुछ मुश्किले हुईं.

हार्दिक पांड्या ने पहली पारी में क्रिस वोक्स की कमी शॉर्ट बाल निकाल ली थी. बूमराह ने सीखते हुए फिर वोक्स को शॉर्ट बॉल से आउट किया. बूमराह की गेंदबाजी इतनी शानदार थी कि उन्हे क्रिटिसाइज़ करने वाले माइकल होल्डिंग भी बोल उठे की, ” वह काफी उम्दा है और यह बेस्ट है”.

इंग्लैंड की दूसरी पारी में बूमराह अब तक 5/85 पर गेंदबाजी कर चुके हैं. 24 वर्षीय गेंदबाज ने भारत को जीत की दहलीज पर लाकर खड़ा कर दिया है. बूमराह ने पोस्ट मैच इंटरव्यू के दौरान कहा कि, व्हाइट बॉल क्रिकेट में आपको गेंदबाज को चकमा देना होता है. सब्र और लगातार प्रदर्शन से ही मुकाबले जीते जाते हैं. आप बल्लेबाज को चकित नहीं कर सकते. आप को उसे चुनौती देनी होगी और धीरे धीरे ही वह खेल से बाहर होगा. अंततः यह एक अच्छा दिन था.

 

बूमराह की गेंदबाजी उम्दा थी. दूसरी नई गेंद के साथ लिए गए लगातार दो विकेट भारत को फिर खेल में वापस लाये थे. गेंद के बारे में बूमराह ने कहा कि जब गेंद धीरे धीरे पुरानी होती जाती है, उसकी मूवमेंट कम हो जाती है. गेंदबाज अच्छी लाइन और लेंथ पर गेंदबाजी कर रहे थे. धूप होने के बाद बल्लेबाजी और आसान हो गई. भारतीय गेंदबाजों ने अच्छे परिणाम के लिए सब्र के साथ दबाव बनाया.
आयरलैंड के खिलाफ पहले टी20 में बूमराह चोटिल हो गये थे. उसके बाद लंबे अंतराल के बाद उनकी वापसी ट्रेंट ब्रिज के मुकाबले में हुई. हालांकि खेल से लंबे समय के लिए बाहर होने के बावजूद बूमराह ने अच्छा प्रदर्शन किया. बूमराह ने बताया कि उन्होने कोहली के साथ विमर्श किया था और उसके बाद फूल लेंथ पर गेंद फेंकी थी. उनके विमर्श के नतीजन अच्छे परिणाम प्राप्त हुए.