कोहली ने टेस्ट क्रिकेट को “क्रिकेट का सबसे अच्छा” प्रारूप कहा 

 

भारतीय कप्तान विराट कोहली जो कि विश्व के नंबर एक बल्लेबाज, ने खेल के लंबे प्रारूप के प्रति अपना प्यार जाहिर किया है.

 

कोहली को लगता है कि टेस्ट प्रारूप खेल का सबसे खूबसूरत प्रारूप है, और सभी क्रिकेट बोर्ड से उन्होने इस प्रारूप को बचाये रखने की गुहार भी लगाई.

 

कोहली ने एक इंटरव्यू में कहा कि, ” मुझे लगता है कि जो सच में खेल को समझते हैं, वे जानते है कि टेस्ट प्रारूप कितना प्रमुख है, और कितना लुभावना है.”
उन्होने आगे कहा कि, “टेस्ट क्रिकेट में मेहनत की डिमांड काफी ज्यादा है, आपको अपनी प्रतिभा को लगातार पांच दिनों तक दर्शाना होता है. मुझे लगता है कि इस फ़ॉर्मट को खत्म होने से बचाना चाहिए. “

 

कोहली ने इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड के 100 गेंद फ़ॉर्मट के बारे में भी बात की.

 

उन्होने कहा कि” जो लोग भी इससे जुड़े हैं, उनके लिए यह काफी उत्सुक करने वाला होगा, पर मुझे नहीं लगता हमें किसी ओर फ़ॉर्मट की जरूरत है. “

 

” कभी कभी लगातार क्रिकेट खेलना काफी डिमांडिंग होता है. मुझे लगता है खेल के व्यवसायीकरण से खेल की गुणवत्ता पर काफी प्रभाव पड़ा है. मैं लीग का समर्थन करता हूं, क्योकि ये आपके अंदर से प्रतिभा को बाहर लाती हैं, पर मैं किसी भी तरह के एक्सपरिमेंट के साथ नहीं हूं. “

 

कोहली ने कहा कि यदि हम फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट पर ज्यादा ध्यान देंगे तो भावी खिलाड़ी टेस्ट क्रिकेट के लिए प्रेरित होंगे.

 

” टी20 क्रिकेट जहां तक तेजी से बढ़ रहा है, ऐसे में सभी क्रिकेट बोर्ड को फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट पर भी ध्यान देना होगा. क्योकि जैसे जैसे स्तर बढ़ेगा, मोटिवेशन भी बढ़नी चाहिए.”
फिलहाल विराट कोहली साउथंपटन में चौथा मुकाबला खेलने के लिए पूरी तरह तैयार हैं.