भारतीय महिला क्रिकेट कप्तान मिथाली राज ने कहा कि आने वाला श्रीलंकाई दौरा, नवम्बर में होने वाले आईसीसी महिला टी20 विश्वकप के लिए मदद करेगा.

 

जैसा कि कप्तान ने मीडिया हाउस से बात करते वक़्त कहा, ” यह काफी जरूरी है, हम दुबारा सामूहिक हो जाए, और समन्वय बिठाकर आत्मविश्वास वापस लेकर आएं. टी20 विश्व कप नवम्बर से शुरू होगा, और श्रीलंकाई दौरा काफी अहम है.” उन्होने टीम पर विश्वास जताते हुए कहा कि हम जीत के लिए तत्पर हैं. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड से लगातार बुरी तरह हारने के बाद, भारतीय टीम को उम्मीद है कि वे वापसी कर सकते हैं.

 

आईसीसी महिला विश्व कप 2017,इंग्लैंड में बुरी तरह हारने और बाहर होने के बाद, भारतीय महिला टीम को तीन माह के आराम पर भेजा गया था. उसके बाद फरवरी में उनका दक्षिण अफ्रीका दौरा रखा गया, जहां वे सीमित ओवर के प्रारूप खेले. दक्षिण अफ्रीका से आने के बाद भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया की मेजबानी की और उसके बाद वे सिरीज हार गए. उसके बाद उन्होने, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया को त्रिकोणीय श्रृंखला के लिए न्योता दिया.इस शृंखला में भी भारत हर मुकाबले में हारा और केवल चार मुकाबलों में से एक में ही जीत पाया. उसके बाद टीम ने एशिया कप में भाग लिया जहां उन्हे बांग्लादेश से हार का सामना करना पड़ा.

 

भारतीय टीम का श्रीलंकाई दौरा

 

सितंबर में भारतीय टीम श्रीलंका का दौरा करेगी, उसके बाद वेस्ट इंडीज में विश्व कप के लिए रवाना होगी.
भारतीय टीम के कोच रमेश पवार, झूलन गोस्वामी के सन्यास के बाद से काफी निराश होंगे. गौरतलब है कि झूलन भारतीय टीम की मुख्य तेज गेंदबाज हैं.

 

मिथाली ने नए कोच पर भरोसा जताते हुए कहा कि उनके कारण स्पिन गेंदबाजी को काफी मदद मिलेगी. झूलन की अनुपस्थिति में उन्होने कहा कि, यह काफी बुरा अनुभव है. अपनी रिटायरमेंट पर उन्होने कहा कि, “वे जब तक फिट हैं, खेलती रहेंगी.” उन्होने कहा कि जब तक टीम में उनकी रिप्लेसमेंट नहीं मिलती, वे खेलेंगी.