महेंद्र सिंह धोनी और राहुल द्रविड़ भी उतने ही जरूरी हैं, जितने कि कोहली

महेंद्र सिंह धोनी और राहुल द्रविड़ भी उतने ही जरूरी है, जितने की विराट कोहली 

 

सोमवार को एमसीसी स्प्रिट ऑफ द क्रिकेट लेक्चर के लिए भाषण देते हुए, आईसीसी के सीईओ डेविड रिचर्डसन ने कहा कि क्रिकेट व्यक्तिव से कहीं ऊपर है, पर अच्छी साइड में होने के लिए हमें अच्छे व्यक्तित्व की भी आवश्यकता है.
रिचर्डसन ने कहा कि जैसे हमें विराट कोहली और बेन स्टॉक जैसे खिलाड़ी चाहिए तो, हमें महेंद्र सिंह धोनी और राहुल द्रविड़ जैसे खिलाड़ी भी संतुलन बनाए रखने के लिए चाहिए.

 

उन्होने कहा कि “मैदान पर क्रिकेट किसी भी व्यक्तिव से बड़ा है. मैदान पर हमें फ्रेडी फ्लिंटॉफ, कोलिन मिलबर्न्स, शेन वॉर्न, बेन स्टॉक और विराट कोहली जैसे खिलाड़ी तो चाहिए ही पर, दूसरी ओर हमें महेंद्र सिंह धोनी, राहुल द्रविड़ जैसे खिलाड़ी भी चाहिए जो संतुलन प्रदान करें.”

 

लेक्चर के दौरान उन्होने खेल के विभिन्न पहलुओं पर बात करते हुए, चीटिंग पर भी बात की. उन्होने कहा कि चीटिंग करते हुए जो भी पकड़ा जाएगा उसे सजा मिलेगी.

 

बॉल के साथ छेड़छाड़ करने की अनुमति किसी को नहीं 

 

उन्होने कहा कि,” हमारे नियम काफी कड़े हैं, और गेंद के साथ छेड़छाड़ करने की अनुमति किसी को नहीं. अगर आप च्युइंग गम चबाते हुए गेंद पर लगाते हैं तब आप सजा के हकदार हैं.”
पूर्व दक्षिण अफ्रीकी विकेटकीपर बल्लेबाज ने कोच और खिलाड़ीयों के रवैये पर भी बात की.

 

जीत जरूरी है, पर किसी भी कीमत में नहीं 

 

उन्होने कहा,” कई कोच और टीम मैनेजमेंट अपने खिलाड़ियों को बचाने के लिए, किसी भी हद तक चले जाते हैं, और वे अंपायर पर पक्षपात का आरोप लगा देते हैं.”
उन्होने आगे कहा कि, “जितना लक्ष्य हो सकता है पर किसी भी तर्ज पर नहीं, तब तो बिल्कुल भी नहीं जब इसके लिए खेल नियमों की आहुति देनी पड़े. “

Previous Article
Next Article

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *