हार्दिक पांड्या भी मैन ऑफ द मैच डिजर्व करते हैं 

 

भारतीय कप्तान ने ट्रेंट ब्रिज में 200 रन बनाकर इंग्लैंड के खिलाफ तीसरे टेस्ट मैच में मैन ऑफ द मैच का खिताब अपने नाम किया.

 

हालांकि पूर्व भारतीय बल्लेबाजी दिग्गज सचिन तेंदुलकर का मानना है कि हार्दिक पांड्या को मैन ऑफ द मैच का खिताब मिलना चाहिए था. ट्रेट ब्रिज के मैच में उन्होने विराट के साथ जीत में लाजवाब योगदान दिया था. उनके फाइफर के कारण जीत करीब आई थी.

 

विराट कोहली ने 97 और 103 रन मारे जिसके कारण भारत 521 रनों का विशाल लक्ष्य पोस्ट कर पाया. पर पांड्या का दूसरे दिन का फाइफर मैच का टर्निंग पॉइंट साबित हुआ, उन्होने केवल छह ओवर में ही 28 रन देकर पांच विकेट लिये.

 

पांड्या के फाइफर ने मैच का रुख बदल दिया

 

तेंदुलकर ने कहा कि, ” मुझे लगता है कि दोनों भारतीय खिलाड़ियों को मैन ऑफ द मैच शेयर करना चाहिए था. दोनों ने ही जीत में विशेष भूमिका निभाई है. विराट की दोनों पारियों के कारण भारत रनों के मामले आगे निकला और उनकी दोनों पारियों ने एक चुनौती पूर्ण टोटल खड़ा किया.”

 

” पांड्या का फाइफर काफी नायाब था. जो रूट और जॉनी बेयरस्तो जैसे खिलाड़ियों का विकेट उसमें शामिल था. पांड्या ने एक अर्ध शतक भी बनाया जिससे लक्ष्य 500 पार गया. “

 

329 रनों के जवाब में इंग्लैंड पहली पारी में 161 पर सिमट गया था और दूसरी पारी में उसने 317 रन बनाए थे.

 

पांड्या को शुरुआती दो मैच में उनके बुरे प्रदर्शन के कारण काफी ट्रॉल किया गया, पर उन्होने अपने प्रदर्शन से जवाब दिया. पांड्या ने अब तक के अपने दस टेस्ट मैच में, सबसे अच्छा प्रदर्शन पिछले मैच में किया.

 

भारत 30 अगस्त से इंग्लैंड के खिलाफ चौथा टेस्ट मैच खेलेगा.