शास्त्री ने बताया कि कुलदीप को टीम में शामिल करना काफी बड़ी गलती थी 

 

रवि शास्त्री ने ट्रेंट ब्रिज में भारतीय टीम के अभ्यास मैच के बाद बताया कि भारतीय बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज को प्लेयिंग एलेवन में शामिल करना टीम की काफी बड़ी गलती थी.
उन्होने कहा कि, ” मैं कहूँगा कि यह बड़ी गलती थी. हमें एक और तेज गेंदबाज खिलाना चाहिए था ताकि हमारी मदद हो सके.”

 

कुलदीप यादव और रविचंद्रन अश्विन को एक विकेट भी नहीं मिली, और यह पिच स्पिन गेंदबाजी को बिल्कुल भी मदद नहीं कर रही थी. इसी कारण बेयरस्तो और वोक्स ने दोनों गेंदबाजों की हर कोने में पिटाई की.
पने इस मूव को बचाते हुए शास्त्री ने कहा कि,” हमें नहीं पता था कि बारिश दुबारा होगी. अगर यह मुकाबला आखिरी दिन तक जाता तब हमें तेज गेंदबाज की आवश्यकता होती.”

 

उन्होने आगे कहा कि “बारिश के कारण हमने समय खोया, जिस कारण एक और तेज गेंदबाज होना काफी आवश्यक है.” पर शास्त्री को लगता है कि इतिहास को हर वक़्त याद करना मूर्खता है. भारत के बल्लेबाजी विभाग में सुधार ही जरूरत है.

 

किसी भी अन्य बल्लेबाज ने वहां 50 तक का आंकड़ा पार नहीं किया, रवि चाहते हैं कि टीम अपनी कमियों को छोड़कर आगे आये और मजबूती से आने वाले मुकाबलों का सामना करे.

 

मुरली विजय और शिखर धवन ने पहले मुकाबले में 50 रन की ओपनिंग साझेदारी की थी पर उसके बाद कोई भी बल्लेबाज किसी भी तरह की साझेदारी में अब तक नहीं आया.

 

अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा जैसे खिलाड़ियों को भी काफी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि इस पर भी शास्त्री का भरोसा ज्यो का त्यों हैं और शास्त्री ने उन्हे टीम का पिलर बताया है और कहा कि वे टीम में रहेंगे.
उन्होने आगे कहा कि, ” परिस्थितियों ने भारतीय बल्लेबाजी का साथ नहीं दिया, पर वे अपनी मानसिक क्षमता को मजबूत करेंगे.”

 

उनसे ऋषभ पंत को टीम में जोड़े जाने पर पूछे जाने पर उन्होने जवाब में केवल खामोशी ही दी.