सेंट लुसिया स्टार की टीम को अपनी 747 दिन की हार का से उबरने के लिए कुछ प्रेरक चाहिए था. कप्तान कायरन पोलार्ड ने 54 गेंद पर 104 रन बनाये और उनकी टीम ने बर्बाडोस की टीम को हराकर 38 रनों से जीत हासिल की.
पोलार्ड के टी20 क्रिकेट में पहले शतक में कुल आठ गगनचुंबी छह और छह चौके शामिल थे. उनके शतक की मदद से टीम ने कुल 226 रन बनाये, और इस स्कोर को उनके गेंदबाजों ने आसानी से डिफेंड कर लिया.

 

जब पोलार्ड क्रीज पर आये तब तक 57 रन पर  तीन विकेट गिर चुके थे, और फिर उन्होने भी अपना समय लिया. फिर उन्होने आंद्रे फ्लेचर के साथ मिलकर चौथे विकेट के लिए 148 रनों की साझेदारी की, जिन्होने 52 गेंद पर कुल 80 रन बनाये.

 

फ्लेचर 18वें ओवर में काफी भयावह बल्लेबाजी की और रेयमान रिफर को लगातार तीन छह लगा दिए. जब वे अपनी बल्लेबाजी के चरम पर थे उन्हे तभी वहाब रियाज ने चलता कर दिया था. फ्लेचर ने छह चौके और इतने ही छह मारे. वहाब ने शानदार तरीके से फ्लेचर को आउट किया पर तब तक काफी देर हो चुकी थी और दोनों ही बल्लेबाजों ने मिलकर, काफी ज्यादा रन बना दिया था. पोलार्ड ने. आखिरी ओवर में छह रन मारकर शतक पूरा किया था. पारी के अंत में स्कोर 20 ओवर में 226 रन था.

 

 

बदले में, बर्बाडोस की टीम केवल 188 रनों पर ही ढेर हो गई. कैस अहमद ने मध्य के ओवर में काफी सधी हुई गेंदबाजी की ताकि बर्बाडोस जीत के आस पास भी ना भटक सके. उन्होने 29 रन देकर स्मिथ और हाशिम अमला का बड़ा विकेट लिया था. ड्वेन स्मिथ के 58 रन के अलावा कोई और बल्लेबाज रन बनाने में नाकामयाब रहा.

 

इस जीत के साथ ही सेंट लुसिया स्टार ने दो सीजन और 15 मुकाबलों की हार के सिलसिले को ख़त्म कर लिया.