भारत और वेस्टइंडीज के बीच खेले गए 5 मैचों की वनडे सीरीज़ में भारत ने अंतिम के 2 मैचों में बुरी तरह से से मेहमान टीम को पटखनी देते हुए सीरीज़ 3-1 से अपने नाम करने में कामयाब रहा। सीरीज़ के मैचों की बात करें तो पहला मैच जहां कोहली और रोहित के पराक्रम से भारत ने ज़ोरदार ढंग से जीता तो वहीं अगले मुकाबले में वेस्टइंडीज ने भारत के पसीने छुड़ा दिए और मैच को बराबरी पर खत्म किया। तीसरे वनडे में वेस्टइंडीज ने जीत दर्ज की जबकि अंतिम दो मुकाबलों के साथ भारत सीरीज़ भी अपने नाम करने में कामयाब रहा। इस सीरीज़ के दौरान कई बेजोड़ प्रदर्शन देखने को मिले तो वहीं धोनी और धवन के प्रदर्शन ने भारत के लिए चिंता भी बढ़ाई हैं।

 

कुछ खास रिकॉर्ड पर एक नज़र

विराट कोहली की बादशाहत कायम

 

अपनी बल्लेबाज़ी का लोहा मनवा चुके भारतीय कप्तान और फिलहाल टेस्ट और वनडे के बल्लेबाज़ों की रैंकिंग में विश्व में पहले स्थान पर चल रहे विराट कोहली का बल्ला पूरी सीरीज़ में आग उगलता हुआ नज़र आया। 5 मैच में कोहली के बल्ले से तीन शतक समेत कुल 453 रन निकलें। 5 मैचों की द्विपक्षीय सीरीज़ में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में 453 के साथ कोहली तीसरे स्थान पर आ गए हैं।

 

हिट रही रोहित शर्मा की बल्लेबाजी

 

रोहित शर्मा का बल्ला जिस भी मैच में चला तो यह वेस्टइंडीज के गेंदबाज़ों पर काल ही बन कर टूटा। पहले मैच में 152 रन की बेजोड़ पारी खेली तो चौथे मुकाबले में एक बार फिर 162 रन ठोक डाले। इस तरह सीरीज़ में दो बार 150 रन से अधिक की पारी खेलने के साथी ही इनके 150 रन या इससे अधिक के पारियों की संख्या 7 हो गयी है जो की सबसे अधिक है।

 

• वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत की लगातार 2007 के बाद 8वी सीरीज़ जीत थी।

• 5वें वनडे में भारत ने 211 गेंद बाकी रहते जीत हासिल कर लिया। बचे गेंदों के हिसाब से भारत की के दूसरी सबसे बड़ी जीत रही।

• भारतीय ज़मीं पर 50 ओवर क्रिकेट का यह ऐसा मैच रहा जिसकी दोनी पारी मिला कर केवल 46.4 ओवर ही फेंके गए। पूरा खेले गए वनडे मैच के हिसाब से यह सबसे छोटा वनडे मैच साबित हुआ। इससे पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ 2010 में 48.1 ओवर का खेल हुआ था।