हनुमा विहारी को उनकी टेस्ट कैप दी गई और वे भारत के खिलाफ पांचवे टेस्ट मैच में पदार्पण करेंगे.
विहारी को चौथे और पांचवे टेस्ट मैच के लिए टीम में शामिल किया गया था, और हार्दिक पांड्या को की जगह उन्हे रिप्लेस किया गया. गौरतलब है कि वे कुलदीप यादव की जगह टीम में शामिल किए गए थे.

रवींद्र जडेजा को रविचंद्रन अश्विन की जगह टीम में शामिल किया गया.
इंग्लैंड ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी
इंग्लैंड कप्तान जो रूट ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी चुनी. जो रूट ने पांचों टेस्ट मैच में टॉस जीतकर नया रिकॉर्ड बनाया उनसे पहले ऐसा करनें वाले मार्क टेलर थे जिन्होने इंग्लैंड के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया के लिए यह रिकॉर्ड बनाया था.
साख बचाने के लिए भारत करेगा इंग्लैंड से संघर्ष
इंग्लैंड ने चौथा मुकाबला जीतकर, भारत के खिलाफ सीरीज पर कब्जा कर लिया था. हालांकि सीरीज हारने के बाद भी भारत का साख बचाने का लक्ष्य होगा, और क्रिटिक्स को शांत करने के लिए भी यही मौका है. इंग्लैंड कप्तान ने अपनी मंशा साफ जाहिर की जब उन्होने कहा कि वे भारत को यानी नंबर 1 टीम को चार मुकाबले हराकर विश्व को संदेश देना चाहते हैं.
ओवल में भारत के नेतृत्व वाली भारतीय टीम यादगार नोट पर खत्म करना चाहेगी. ओवल पर भारत का रिकॉर्ड सबसे बड़ी दिक्कत है.
भारत ने पिछले 82 सालों में यहां 12 मुकाबले खेले हैं, और केवल 1971 में ही जीता है जब स्वर्गीय अजित वाडेकर ने पहली बार इंग्लैंड में सीरीज जीती थी.
टीम :-
भारत (प्लेयिंग एलेवन) :- शिखर धवन, चेतेश्वर पुजारा, के एल राहुल, विराट कोहली (कप्तान), ऋषभ पंत (विकेटकीपर), अजिंक्य रहाणे (उपकप्तान), हनुमा विहारी, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, रवींद्र जडेजा, जस्प्रित बूमराह.
इंग्लैंड:- 
(प्लेयिंग एलेवन) :- अलस्टेयर कुक, बेन स्टॉक, किटोंन जेंनिंग, मोइन अली, जो रूट (कप्तान), जॉनी बेयरस्तो (विकेटकीपर), सैम करन, जोश बटलर, स्टुअर्ट ब्रॉड, अदिल राशिद, जेम्स एंडर्सन.