रोज बाउल में हुए एक इंटरव्यू में ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर शेन वॉर्न ने भारत के विषय में कई प्रकार की राय रखी. उनसे सीरीज के बारे में पूछे जाने पर उन्होने कहा कि, वे इस सीरीज में काफी रुचिकर हैं, और भारत ने इस सीरीज में काफी कुछ सीखा है.

 

उन्होने ट्रेंट ब्रिज में शानदार प्रदर्शन किया और दम खम के बल पर जीते. वॉर्न के अनुसार इंग्लैंड ने पहले टेस्ट मैच में संतोषजनक प्रदर्शन नहीं किया था, और भारत यह मुकाबला आसानी से जीत सकता था.

उनसे बाद में पूछा गया कि भारतीय लाइन अप के विषय में कहें? इस सवाल के जवाब में उन्होने भारतीय गेंदबाजी की काफी ज्यादा तारीफ की और उन्होने कहा कि ऐसी गेंदबाजी किसी भी टीम को ध्वस्त कर सकती है. वॉर्न ने कहा कि उनकी प्रतिभा काफी लुभावनी है और वे किसी भी टीम के खिलाफ किसी भी परिस्थिति में अच्छा कर सकते हैं.

 

कप्तान कोहली और उनकी सचिन से समानताओं के बारे में पूछे जाने पर वॉर्न ने कहा कि लारा और सचिन अपने समय के बेस्ट हैं. वॉर्न ने यह माना कि जिस प्रकार कोहली आजकल खेल रहे हैं उससे उन्हे जल्दी ही लारा और सचिन की फेहरिस्त में रखा जाएगा.

 

वॉर्न से कुलदीप और अश्विन के बारे में भी पूछा गया. उन्होने कहा कि ये दो काफी ज्यादा प्रतिभाशाली हैं. कुलदीप को वापस भेजना काफी निराशाजनक था. वॉर्न को लगता है कि कुलदीप को चौथे और पांचवे टेस्ट के दौरान भी वहां रखना चाहिए था. वॉर्न के अनुसार कुलदीप अत्यंत प्रतिभाशाली हैं और भविष्य में वे काफी ज्यादा सफलता प्राप्त करेंगे.

 

वॉर्न ने अश्विन के बारे में भी बात की. उन्होने कहा कि अश्विन को सब्र रखना होगा, उन्हे समझना होगा कि फाइव विकेट हौल रोज़ रोज़ नहीं मिलते. उन्हे परिस्थितियों को समझना होगा और, खुद पर दबाव बनने से बचना होगा. वे काफी प्रतिभाशाली हैं और, सब्र की उन्हे खास जरूरत है.

वॉर्न अपने समय के उम्दा गेंदबाज थे, उन्होने आजकल के वक़्त में कलाई गेंदबाजों के हालातों के  विषय में बात की. वॉर्न ने कहा कि स्पिन गेंदबाजी कही भी अच्छा हथियार साबित हो सकती है. यह केवल ऑफ स्पिन या लेफ्ट हैंड स्पिन ही नहीं फिंगर स्पिन के बारे में भी कहा जा सकता है. उन्होने यह भी कहा कि आजकल के बल्लेबाज स्पिन को अच्छे से नहीं खेल रहे.