भारतीय टीम ने ट्रेंट ब्रिज में किया शानदार प्रदर्शन

 

तीसरे टेस्ट मैच में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन किया है. इस प्रदर्शन से टीम इंडिया ने सभी विरोधियों को शांत कर दिया है. लॉर्ड्स टेस्ट में बुरी तरह हारने के बाद उन्हे बुरी तरह क्रिटिक का सामना करना पड़ा. अगले ही मैच में उन्होने दुनिया को दिखा दिया कि वे बेस्ट हैं.

 

भारतीय कप्तान ने अपने करियर की 58वीं सेंचुरी लगाई जिस कारण भारतीय टीम ने तीसरे दिन के अंत में कुल 498 रनों की लीड ली.
गौरतलब है कि दिग्गज पूर्व खिलाड़ी सुनील गावस्कर ने कप्तान कोहली को श्रेय न देते हुए कहा कि रूट के कारण ही भारत इतना अच्छा प्रदर्शन कर पाया है. टॉस में लिये गये रूट के फैसले ने ही भारत को कमांड पोजिसन में पहुंचाया है.

 

जो रूट ने गेंदबाजी चुनी और विराट भी बल्लेबाजी ही करना चाहते थे. गावस्कर के अनुसार यदि रूट गेंदबाजी न चुनते तो, हो सकता था कहानी कुछ और होती.

 

भारत को बल्लेबाजी करने देने के फैसले ने अन्तर पैदा किया : गावस्कर 

 

गावस्कर ने अपने कॉलम में लिखा कि “दूसरे टेस्ट मैच में हार के बाद भारत ने एक शानदार वापसी की है. उन्होने मुकाबले में अच्छी पकड़ बना ली है और जीत के वे करीब ही हैं. भारतीय टीम को इंग्लैंड के कप्तान रूट का शुक्रिया अदा करना चाहिए, क्यूंकि उन्होने गेंदबाजी चुनी.”

 

उन्होने आगे कहा कि, ” रूट का फैसला काफी जेनुइन था, भारतीय बल्लेबाज स्विंग समझने में नाकामयाब थे. विराट कोहली ने दोनों पारियों में शानदार प्रदर्शन किया. “
गावस्कर ने के एल राहुल और शिखर धवन के बारे में भी कहा. गौरतलब है कि दोनों ही बल्लेबाज अपनी पारियों को बड़े स्कोर में तब्दील करने में नाकामयाब रहे.
उन्होने लिखा कि,” धवन और राहुल काफी ज्यादा निराश होंगे, इतनी मेहनत करने के बाद भी वे बड़े स्कोर नहीं बना पाये. उनके एफर्ट ने पहली पारी में कोहली और रहाणे की मदद की, और दूसरी पारी में उन्होने पुजारा और कोहली की मदद की.”

 

भारत ने इंग्लैंड को 522 का लक्ष्य दिया है और इंग्लैंड अब तक 23/0 तक खेल चुका है.