लीड्स में तीसरा एकदिवसीय मैच जीतने के बाद माइक ड्रॉप सेलिब्रेशन करके रूट ने एक विवादित जंग छेड़ी थी. गौरतलब है कि इस निर्णायक मुकाबले में रूट ने शतक लगाया था और अपनी टीम को मैच और सीरीज में विजय दिलवाई थी.
रूट के इस सेलिब्रेशन के बाद, इस विवाद का भारतीय टीम क्या जवाब देगी ये सभी ने सोचा था? रूट के माइक ड्राप सेलिब्रेशन का विराट कोहली ने पहले टेस्ट के पहले दिन दिया. कोहली ने इस विवाद को और बढ़ाया और रूट के माइक ड्राप को एक चुनौती के तौर पर लिया.

कोहली ने रूट को रन आउट किया जब वे 80 रन पर खेल रहे थे. गौरतलब है कि रूट के साथ विकेटकीपर बैरस्तो भी क्रीज पर थे और दोनों बल्लेबाजों ने दो रन चुराने की कोशिश की थी.

 

 

कोहली ने रूट को स्टाइल से मैदान से विदा किया, गौरतलब है कि रूट के आउट होने के बाद भारतीय कप्तान का सेलिब्रेशन थोड़ा सा आपत्तिजनक था. पर आईसीसी इस सेलिब्रेशन पर कोई आपत्ति नहीं उठा सकती, क्योकि यह औपचारिक माइक्रो फोन से काफी दूरी पर कि गई थी.

रूट नें इंग्लैंड की ओर से सबसे तेज 6000 रन बनाए. वह अपने शतक की ओर तेजी से बढ़ रहे थे पर भारतीय कप्तान के शानदार थ्रो के बाद उनका सफर वहीं रुक गया. कोहली ने उन्हे पारी के 63वें ओवर में आउट किया.
रूट के आउट होने के बाद कोहली ने उन्हे किस भेजने की मुद्रा बनाई और फिर उन्ही के माइक ड्राप सेलिब्रेशन की नकल की. रूट के आउट होने के बाद इंग्लैंड की पारी तहस नहस हो गई, पहले दिन उनके कुल 9 विकेट केवल 285 रन पर गिर गए.
स्टॉक, राशिद और ब्रॉड भी काफी सस्ते में चलते बने. अब क्रीज पर सैम करन (24 नाबाद) और जेम्स एंडरसन (शून्य नाबाद) मौजूद हैं.
इंग्लैंड टीम के कीटोन ने घटना के बारे में कहा कि, “हर कोई अपने तरीके से सेलिब्रेट करने के लिए आजाद है. वह सेलिब्रेशन का एक तरीका था, और वह पूरी तरह ठीक है”. इंग्लैंड ने स्टॉक की उपलब्धता के बारे में कहा है कि वे अगले मैच में में खेल सकते हैं, अगर उन्हे ट्रायल के लिए न जाना पड़ा तो.
इंग्लैंड के हरफनमौला खिलाड़ी को कोर्ट में दोषी नहीं पाया गया है.