कोहली गले पर  चोट के कारण नहीं खेल पाए काउंटी क्रिकेट :

 

हर कोई विराट कोहली को काउंटी क्रिकेट में खेलता देखने के लिए बेताब था. गौरतलब यह है कि कोहली ने सूरी क्रिकेट के साथ एक डील की थी. दुर्भाग्यवश कोहली गले पर चोट लगने के कारण सुर्री की ओर से क्रिकेट नहीं खेल पाए. इसका खासा फर्क आने वाली टेस्ट सीरीज में दिख सकता है क्योकि कोहली ने सीरीज से पहले एक भी अभ्यास मैच नहीं खेलने का निश्चय किया है. कोहली का मानना था कि काउंटी क्रिकेट में खेलने से वे परिस्थिति में खुद को ढाल पाएंगे, पर सबकुछ योजना के अनुसार नहीं हुआ.

 

प्रदर्शन पर हुआ असर सबसे द्वारा देखा जाएगा :

 

सुर्री के निदेशक ऐलेक ही वे व्यक्ति थे जिन्होने विराट कोहली और सुर्री की फ्रेंज़आईजी के बीच वो डील कराई थी. टेस्ट सीरीज के पहले उन्होने कहा कि, ये मैच मिस करने का कोहली के प्रदर्शन पर होने वाला असर साफ देखा जाएगा.
उन्होने कहा कि, ” मेरी कोहली से बातचीत के दौरान कोहली मैंने कोहली को कहा था कि मई में होने वाले मैच में आपकी उपस्थिति हमारे लिए बहुत जरूरी है, जिसके बदले मे उन्होने कहा था कि वे भी सुर्री की ओर से खेलना चाहते है,सुर्री में खेलने से विराट को मदद जरूर मिलती. पर मगर गले पर चोट के कारण वे नहीं खेल पाए. “

 

सुर्री डील मिस करने का खामियाजा प्रदर्शन पर दिख सकता है? 

 

उन्होने कहा कि,” इंग्लैंड में विराट ने काफी कम खेला है. केवल कुछ ही टेस्ट जिन्हे उँगलियों पर गिना जा सकता है. अब देखने वाली बात है कि प्रदर्शन पर किस हद तक हानि होती है, या भी नहीं भी होती. “
” टेस्ट सीरीज खेलने के लिए उनके पास बस सीमित ओवर का अनुभव है. पर विराट जैसे खिलाड़ी को इन सब बातों की परवाह नहीं होती, ऐसे खिलाड़ी परिस्थितियों के अनुकूल खुद को बहुत जल्द ढाल लेते हैं. मैं बस यही चाहता हूं के वे अच्छा प्रदर्शन करे और यहां की कंडिशन में भी सफलता प्राप्त करें. “

 

” कई लोग उनके रिकॉर्ड की बात करते है, पर मुझे पूरी उमीद है कि वे अच्छा प्रदर्शन करेंगे. मैं खुश नसीब हूँ कि मुझे उनका खेल देखने के लिए टिकट नहीं खरीदना होगा. “
अनुभवी खिलाड़ी टीम को फायदा पहुंचाएंगे 

 

निदेशक का मानना है कि चेतेश्वर पुजारा, रविचंद्रन अश्विन, ईशांत शर्मा जैसे खिलाड़ी जो काउंटी क्रिकेट खेल चुके हैं, उनका अनुभव टीम को फायदा पहुंचाएगा.
उन्होने कहा कि,” अश्विन, पुजारा और इशांत जैसे खिलाड़ी इंग्लैंड में रहकर काफी खेल चुके हैं, तो यह भारत को फायदा देगा. जितनी जल्दी टीम कंडीशन में ढलेगी उतना ही बेहतर होगा.”
सीरीज का पहला मैच एक अगस्त से शुरू होगा.