AUS VS IND: पूर्व क्रिकेटर डीन जोंस ने विराट कोहली पर दिया बड़ा बयान

ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व बल्लेबाज डीन जोंस को नहीं लगता कि मौजूदा ऑस्‍ट्रेलियाई टीम आने वाले एडिलेड टेस्ट सीरीज ऑस्ट्रेलिया बनाम भारत में भारत को पछाड़ सकेगी और उन्होंने अपनी घरेलू टीम ऑस्ट्रेलिया को भारतीय कप्तान विराट कोहली को ‘उकसाने’ से बचने की नसीहत भी दी हैं. जोंस की यह राय ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व कप्‍तान इयान चैपल से उलट है. चैपल का मानना है कि इस सीरीज में भारतीय टीम को कुछ कमी खलेगी और इस कारण विराट की टीम हार जाएगी.

 

लेकिन उसी के परे जोंस का कहना हैं यदि एक बार विराट का बल्ला चला तो टीम इंडिया को जीतने से कोई नहीं रोक पाएगा। दरअसल बॉल टैम्‍परिंग विवाद के कारण ऑस्‍ट्रेलिया के तीन दिग्गज स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर पर एक-एक साल का प्रतिबंध लगा हुआ है. और इन दो खिलाड़ि‍यों की गैरमौजूदगी के कारण टीम कोई खास प्रदर्शन नहीं कर पा रही। इसलिए भारत के पास ऑस्‍ट्रेलिया में पहली टेस्ट सीरीज जीतने का सुनहरा मौका है.

विराट कोहली की बल्‍लेबाजी

‘सिडनी मार्निंग हेराल्ड’ से बात करते हुए जब जोंस से विराट कोहली की बल्लेबाजी को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि,कोहली की बल्लेबाजी में कमी तलाशना उसी तरह है जिस तरह मोनालिसा में कोई कमी तलाशना.भारत हर प्रारूप में ऑस्‍ट्रेलिया से आगे हैं भारत के पास शानदार तेज गेंदबाज हैं जो अपेक्षाओं पर खरे उतर सकेंगे और बाकि कमी को पूरा करने के लिए विराट ही काफी हैं.”

 

WBBL 2018/19: INDIAN CRICKETER TO MISS 1ST MATCH FOR SYDNEY THUNDER

 

जोंस ने कहा,”मुझे लगता है कि भारत 2-0 या 3-0 से जीतेगा क्योंकि मुझे नहीं लगता कि ऑस्‍ट्रेलिया एक भी टेस्ट जीत सकेगा.” हालांकि उन्होंने कहा,‘ऑस्‍ट्रेलिया को उसकी धरती पर हराना काफी कठिन है, लेकिन इस टीम में स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर नहीं है जो ऑस्‍ट्रेलिया के रनों का 40 प्रतिशत बनाते हैं. और उनकी जगह लेना वाला कोई नही हैं.” आपको बता दें की,’गेंद से छेड़खानी विवाद के बाद ऑस्‍ट्रेलिया का मैदान सुर्खियों में है.

 

कोहली से बचने की सलाह 

जोंस ने कहा कि कोहली को उकसाने से टीम को कोताही बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा,‘उनसे बात भले ही ना करें लेकिन मैदान पर उन्हें उकसाएं नहीं. उन्हें अपना दोस्त बनाकर खेलें, तभी आप जीत के बारे में विचार कर सकते हैं.” कोहली पर अंकुश लगाने के उपाय पूछने पर जोंस ने कहा, “कोहली की बल्लेबाजी में कमी तलाशना उसी तरह है जिस तरह मोनालिसा में कोई कमी ढूंढना. उसके कवर ड्राइव पर रोक लगानी होगी.”

 

जोंस ने 1986 के दौरे का उदाहरण दिया जब ऑस्ट्रेलिया अनुभवहीन टीम लेकर भारत गया था. उन्होंने कहा, “1986 में हमारे पास अनुभवहीन टीम थी लेकिन एलेन बॉर्डर और बॉब सिम्पसन जैसे दो महान खिलाड़ी थे. खिलाड़ियों ने विरोधी टीम की परवाह किये बिना खेला और टेस्ट श्रृंखला ड्रा कराई.”

Previous Article
Next Article

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *