January 3, 2019
| On 6 महीना ago

नम आँखों से सचिन ने दी कोच रमाकांत आचरेकर को विदाई

By Shubham Mishra

भारतीय क्रिकेट को सचिन तेंडुलकर जैसा कोहिनूर खिलाड़ी देने वाले रमाकांत आचरेकर दुनिया को अलविदा कह गए। सचिन तेंडुलकर अपने बचपन के कोच की अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

उनके अंतिम संस्कार के दौरान मास्टर ब्लास्टर की आँखों से आंसू भी छलक पड़े। कोच रमाकांत के निधन पर सचिन ने दुख वक्त करते हुए कहा की अब स्वर्ग में भी क्रिकेट समृद्ध होगा।

बेहद भावुक नजर आए सचिन

कोच रमाकांत आचरेकर से क्रिकेट की बारिकियां सीखने वाले सचिन तेंडुलकर कोच के अंतिम संस्कार के दौरान बेहद भावुक नजर आए। सचिन ने कहा की उनके क्रिकेट करियर में कोच रमाकांत आचरेकर का बहुत बड़ा रोल रहा था।

उन्होंने कहा की मेरे जीवन में उनके योगदान को में शब्दों में बयां नहीं कर सकता। उन्होंने मेरे करियर की नींव रखी, जिस पर में खड़ा हो सका। कोच आचरेकर सर ने मुझे सीधे बल्ले से खेलना सिखाया, और साधा जीवन जीना सिखाया, हमें अपने जीवन से जोड़ने और खेल के गुर सिखाने के लिए धन्यवाद।

सचिन के अलावा उनके साथी खिलाड़ी रहे विनोद कंबाली, महाराष्ट नवनिर्माण के प्रमुख राज ठाकरे भी रमाकांत आचरेकर की अंतिम यात्रा में शामिल हुए।

गुण पुर्णिमा पर सचिन ने जताया था सम्मान

सचिन तेंडुलकर ने गुण पूर्णिमा के मौके पर कोच रमाकांत आचरेकर के पैर छूते हुए तस्वीर अपने ट्वीटर हैंडल पर शेयर की थी। आज गुरु पूर्णिमा है,यह वह दिन है जिस दिन हम उन्हें याद करते है, जिन्होनें हमें अपने आप में बेहतर होना सिखाया। उन्होने कोच आचरेकर का धन्यवाद करते हुए कहा था की आपके बिना में यह सब नहीं कर पाता सर।

शोक में डूबा भारतीय क्रिकेट

रमाकांत आचरेकर के निधन से पूरा क्रिकेट शोक में डूबा है। बीसीसीआई ने भी आचरेकर जी के निधन पर दुख जताते हुए कहा की रमाकांत आचरेकर ने ना सिर्फ महान क्रिकेटर दिए, बल्कि उन्हे बेहतर इंसान भी बनाया। क्रिकेट में उनका योगदान हमेशा याद रखा जाएगा। वही देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी ट्वीट करके रमाकांत आचरेकर को श्रद्धंजलि दी।

Shubham Mishra