February 8, 2019
| On 2 महीना ago

India vs New Zealand: डेरिल मिशेल के आउट होने पर हो गया ड्रामा, जानें क्यों

By Taranjeet Sikka

क्रिकेट में कई बार मैदानी अंपायर अपने फैसले को लेकर दुविधा में फंस जाते हैं। या फिर कई बार टीम ही अंपायर के फैसले से सहमत नहीं होती है। ऐसे में तीसरे अंपायर की मदद ली जाती है। लेकिन कई बार तीसरे अंपायर का फैसला आने के बाद भी दुविधा बनी रहती है। न्यूजीलैंड और भारत के बीच ऑकलैंड में खेले गए दूसरे टी-20 मैच में तीसरे अंपायर ने बल्लेबाज को आउट दिया। लेकिन न्यूजीलैंड की टीम इससे संतुष्ट नजर आई।

Credit : star sports

क्या है पूरा मामला

न्यूजीलैंड की पारी का छठा ओवर चल रहा था और अपने ओवर में पहले ही क्रुणाल पंड्या कॉलिन मुनरो को आउट कर चुके थे। उनके ओवर की आखिरी गेंद पर न्यूजीलैंड के बल्लेबाज डेरिल मिशेल बल्लेबाजी कर रहे थे। क्रुणाल ने उनके खिलाफ LBW की अपील की। अंपायर ने उन्हें आउट करार दिया।

मिशेल अंपायर के इस फैसले से असहमत थे। उन्होंने सामने वाले छोर पर खड़े अपने कप्तान केन विलियमसन से सलाह की। मिशेल का कहना था कि गेंद उनके बल्ले से लगी है और ऐसे में उन्होंने रिव्यू लेने का फैसला किया। इस फैसले में हॉट स्पॉट में बल्ले पर निशान नजर आया।

इसमें बल्ला पैड से बहुत दूर था इसलिए ये निशान गेंद का ही हो सकता था। लेकिन डीआरएस में तीनों निशान लाल नजर आ रहे थे। बॉल ट्रैंकिंग में गेंद मिडल स्टंप से टकराती हुई नजर आई। तीसरे अंपायर ने मिशेल को आउट करार दिया। उनका कहना था कि गेंद बल्ले से नहीं लगी है।

Credit : Photosport

विलिमयसन और मिशेल अंपायर को हैरानी से देखने लगे। अंपायर ने मिशेल को रुकने के लिए कहा। धोनी विलियमसन और अंपायर से बात करने में व्यस्त थे। तीसरे अंपायर शॉन हेग के इस फैसले से सभी हैरान थे। मिशेल के बचने का एक ही तरीका था कि अगर रोहित अपनी अपील विड्रॉ कर लेते। क्रुणाल ने अपने अगले ही ओवर में विलियमसन को भी LBW कर दिया था और भारत को एक और बड़ी कामयाबी दिलाई।

अंपायर ने क्यों लिया ऐसा फैसला

गौरतलब है कि अब सवाल ये है कि जब भी शक होता है तो इसका लाभ बल्लेबाजी करने वाली टीम को ही दिया जाता है। तो इस मामले में अंपायर ने ऐसा क्यों किया। असल में अंपायर ने स्नीकोमीटर पर देखा कि उनमें बल्ले का कोई किनारा नहीं है। इसलिए उन्होंने कहा कि गेंद बैट से नहीं लगी है। यानी अंपायर ने हॉट स्पॉट से ऊपर स्नीकोमीटर को रखा।

Taranjeet Sikka