March 29, 2019
| On 4 महीना ago

तो क्या MI के खिलाफ मैच में खराब अम्पायरिंग के कारण हारी कोहली की RCB सेना !

By Shubham Bharadwaj
VIVO IPL 2019 का 7वां high voltage मैच बेंगलुरु के M.Chinnaswamy Stadium में खेला गया. जिसमें Mumbai Indians ( MI ) ने Royal Challengers Bengaluru ( RCB ) को रोमांचक मैच में 6 रन से हरा कर सीज़न की पहली जीत दर्ज़ की.
टॉस हराकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मुंबई ने निर्धारित 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 187 रन बनाए. जिसमें MI के कप्तान रोहित शर्मा ने 33 गेंदों में 48 रन तो अंत में हार्दिक पंड्या ने 14 गेंदों में 32 रन की तेज़ तर्रार पारी खेल कर टीम को मजबूत स्थिति तक पहुँचाया. जिसमें हार्दिक ने एक इतना लम्बा छक्का मारा की गेंद स्टेडियम के बाहर जाकर गिरी.

कोहली का out होना बना टर्निंग पॉइंट

Pic Credit@Espncricinfo
टारगेट का पीछा करने उतरी RCB की शुरुआत सही नहीं रही और 27 रन के स्कोर पर मोईन अली को कप्तान रोहित शर्मा ने रन आउट किया. हालाँकि इसके बाद मध्यक्रम में मिस्टर 360 डिग्री एबी डिविलियर्स और कप्तान विराट कोहली ने लक्ष्य की और बढ़ना शुरू किया. कोहली ने अपनी पारी में बूम-बूम बुमराह की लगातार तीन चौकें मारे. मगर इसके बाद 32 गेंदों में 46 रन बनाकर कोहली बुमराह का ही शिकार बने.

बुमराह बने मैच के हीरो

credit-BCCI
दूसरी तरफ डिविलियर्स अंत तक नाबाद रहे मगर टीम को मैच जीताने में कामयाब नहीं हो पायें.
डीविलियर्स ने 41 गेंदों में 6 छक्के और 4 चौके की मदद से नाबाद 70 रन की धुआंधार पारी खेली. जिसके चलते RCB टीम 20 ओवर में सिर्फ 181 रन ही बना पाई.  MI की तरफ से जसप्रीत बुमराह ने 4 ओवर में 20 रन देकर 3 विकेट चटकाए. जिसके चलते उन्हें मैंन ऑफ द मैच चुना गया.

क्या अम्पायर की गलती से हारा RCB

दरअसल, RCB को अंतिम ओवर में 17 रनों की दरकार थी. तभी गेंदबाजी करने आये MI के अनुभवी यार्कर स्पेशलिस्ट लसिथ मलिंगा को युवा शिवम् दुबे ने पहली गेंद पर लम्बा छक्का मारा. उसके बाद सिंगल लेकर स्ट्राइक डिविलियर्स को दी. इस तरह ओवर में एक-दो रन लेते हुए RCB को एक गेंद में 7 रन की दरकार थी. यानी छक्का ही उसे मैच में जीवित रख सकता था.

मलिंगा ने अंतिम गेंद भी बेहतरीन यार्कर डाली और डिविलियर्स 1 रन ही ले पाए. बाद में वीडियों में देखने पर पता चला की ये गेंद नो बॉल थी. मलिंगा का पैर लाइन से साफ़-साफ़ बाहर था. और RCB को मैच 5 रन से गंवाना पड़ा. ऐसे में अगर ये गेंद नो बॉल करार दी जाती तो शायद बेंगलुरु मैच जीत सकता था.
Shubham Bharadwaj