क्रिकेट न्यूज़
| On Oct 11, 2018 2:42 PM IST

पृथ्वी को सेहवाग जैसा बनने में अभी और चुनौतियाँ लगेंगी : गौतम गंभीर

Share
पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज और विश्वकप मुकाबलों में भारत के हीरो रहे, गौतम गंभीर ने पृथ्वी शा के बारे में बयान देते हुए काफी कुछ कहा|गौरतलब है कि पृथ्वी शा ने अपने पहले ही मुकाबले में शतक लगाकर हर ओर से तारीफें बटोरी है| इस बीच कई लोगों ने उनकी तुलना सहवाग के साथ भी कर दी| गौरतलब है कि गौतम गंभीर ने अपने बयान में कहा कि पृथ्वी शा की सहवाग से तुलना काफी जल्दीबाजी होगी|
पृथ्वी शा काफी टैलेंटड हैं, उनकी तकनीक अच्छी है वे अच्छा प्रदर्शन करते हैं यही कारण है कि उन्हे टेस्ट टीम में शामिल किया गया है| उन्होने अपना करियर काफी बेहतरीन तरीके से शुरू किया है पर आने वाले वक़्त में चुनौतियां उनका इंतजार कर रही हैं|

 

क्यूँ पृथ्वी शा और सहवाग के रिकॉर्ड हैं अलग अलग?

रिपोर्टर्स से बात करते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि, वीरेंद्र सहवाग की मुकाबले पृथ्वी शा की तुलना नहीं की जा सकती| पूर्व सलामी बल्लेबाज ने कहा कि जो भी लोग इन दोनों की तुलना कर रहे हैं, उन्हे इस बारे में सोचना चाहिए| उन्होने अब तक केवल एक ही मुकाबला खेला है और सहवाग 100 से ज्यादा मुकाबले खेल चुके हैं|

 

गौतम गंभीर ने वेस्ट इंडीज के खिलाफ ऋषभ पंत को एकदिवसीय श्रृंखला में शामिल करने का समर्थन किया है| उन्होने कहा कि पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी अगर अच्छा प्रदर्शन करते हैं तब उन्हे रखा जाए, वर्ना अगर उनकी जगह कोई और अच्छा प्रदर्शन करता है तो उसे टीम में रखा जाए|

 

ऑस्ट्रेलिया के लिए तैयारी कैसे करें?

 

वेस्ट इंडीज के खिलाफ खेलने के बाद भारत का अगला दौरान ऑस्ट्रेलिया का होगा जहां वे सबसे पहले टेस्ट श्रृंखला खेलेंगे. गौरतलब है कि भारत, ऑस्ट्रेलिया दौरे पर चार टेस्ट मैच, तीन एकदिवसीय, और तीन टी20 मुकाबले खेलेगा| गौतम गंभीर ने कहा कि टेस्ट में नंबर वन भारत को ऑस्ट्रेलिया में काफी सोच समझकर खेलना होगा| गौरतलब है कि वहां की परिस्थितियों को ध्यान में रखकर प्रदर्शन करना काफी जरूरी है| गंभीर ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया जाकर ऑस्ट्रेलिया को चुनौती देना काफी मुश्किल है और ऐसा करने के लिए आपको काफी अभ्यास करना होगा|

 

गंभीर ने 2010-11 में हुए एशेज श्रृंखला को याद करते हुए कहा कि उस वक़्त ऑस्ट्रेलिया में गए इंग्लिश गेंदबाजों ने 3 अभ्यास मुकाबले खेले थे| जिस कारण बाद में उन्होने एशेज को 3-1 से जीता था| भारत अभ्यास न कर पाने के कारण ही दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में बुरी तरह हार कर वापस लौटा है|

 

भारत के लिए केवल एक ही साकारत्मक पहलू ऑस्ट्रेलिया दौरे में नजर आता है. वह यह है कि ऑस्ट्रेलिया के दोनों हीं दिग्गज और खतरनाक बल्लेबाज, डेविड वार्नर और स्टीव स्मिथ टीम से बाहर हैं| जिस कारण ऑस्ट्रेलियन बल्लेबाजी क्रम थोड़ा कमजोर नजर आएगा| हालांकि उनकी गेंदबाजी में धार है और उनके पास नाथन लियोन जैसा ऑफ स्पिन गेंदबाज है, जो कि किसी भी बल्लेबाजी क्रम को तोड़ सकता है| यह भारत के लिए आसान नहीं होगा|