ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज़ जॉन हेस्टिंग्स ने फेफड़े की गंभीर बीमारी के कारण क्रिकेट को कहा अलविदा

ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ी जॉन हेस्टिंग्स ने फेफड़े की गंभीर बीमारी के कारण क्रिकेट के सभी प्रारूप से सन्यास लेने की घोषणा कर दी है। खबरों के अनुसार उनके फेफड़ो से रक्तस्राव होने की शिकायत के बाद इन्होंने ये बड़ा फैसला किया है।

बीते मई महीने में अपनी पिछली टीम मेलबर्न को छोड़ कर सिडनी सिक्सर्स से जुड़े 33 वर्षीय जॉन हेस्टिंग्स ने पिछले ही महीने घोषणा कर दी थी के वह आगामी बिग बैश टुर्नामेंट में भी भाग नही ले पाएंगे। उन्होंने उस समय इसकी घोषणा करते हुए कहा था की अगर वह इस स्तिथि में मैदान पर लौटते हैं, तो इससे बीमारी और भी गंभीर हो सकती है , यहां तक की मृत्यु भी हो सकती है।

मिली जानकारी के मुताबिक हेस्टिंग्स के डॉक्टर ने बताया है कि यह संभव है की जब हेस्टिंग्स गेंदबाज़ी करेंगे तो दबाव के कारण उनके फेफड़े से खून बहना शुरू हो सकता है। इस बीमारी का लक्षण कई साल पहले ही देखने को मिला था। जांच के अनुसार इनके लंग्स में अभी भी एक बड़े हिस्से में संक्रमण देखने को मिला है।

ऑस्ट्रेलियाई समाचार पत्र सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड से बात करते हुए जॉन हेस्टिंग्स ने कहा की फेफड़े के एक बड़े हिस्से में संक्रमण है। इस कारण कभी भी खेलते समय बड़ी समस्या हो सकती थी। इस कारण ही क्रिकेट को अलविदा कहने का फैसला किया है।

 

जॉन हेस्टिंग्स के करियर पर नज़र डालें तो इन्होंने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट यानी टेस्ट, वनडे और T20 में ऑस्ट्रेलिया का प्रतिनिधित्व किया है। हेस्टिंग्स का क्रिकेट जीवन लगभग 11 साल लंबा रहा लेकिन अंतराष्ट्रीय स्तर पर इन्हें कम ही मौके मीले हैं।

ऑस्ट्रेलिया की ओर से हेस्टिंग्स ने एक टेस्ट, 29 वनडे और 9 T20 मैच खेले हैं। हेस्टिंग्स T20 क्रिकेट पर ध्यान लगाने के लिए टेस्ट और वनडे क्रिकेट से 2017 में ही सन्यास ले चुके थे। अब उन्होंने सभी प्रकार के क्रिकेट से सन्यास ले लिया है। 2007 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में डेब्यू करने वाले हेस्टिंग्स ने इस स्तर के 75 मैच खेले हैं जिसमें इनके नाम 239 विकेट दर्ज है।

Previous Article
Next Article

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *