हार का दर्द आज भी जेहन में: अजय ठाकुर

जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में भारतीय टीम को सेमीफाइनल में मिली हार का दर्द आज भी अजय ठाकुर के जेहन में है। भारतीय कबड्डी टीम के कप्तान और स्टार प्लेयर अजय ठाकुर ने कहा है की एशियन गेम्स में मिली हार का दुख वो आज तक भुला नही पाए है। गौरतलब है की अजय की कप्तानी में टीम को पहली बार एशियन गेम्स में बिना पीले मेडल के लौटना पड़ा। एक चैनल को दिए इंटरव्यू में अजय ने कहा की वो अपने खेल का पूरी तरीके से लुत्फ नही उठा पाए रहे है। एशियन गेम्स में मिली हार का दर्द वो आज भी महसूस करते है।

 

चुभती है एशियन गेम्स की हार

भारतीय कबड्डी टीम के कप्तान अजय ठाकुर ने कहा है की जकार्ता एशियन गेम्स में मिली हार का दर्द आज भी उनको परेशान करता है। अजय ने कहा उनके लिए यह बेहद दुख की बात थी उनकी कप्तानी में पहली बार टीम एशियन गेम्स में हार कर बाहर हुई। गौरतलब है की जब से एशियन गेम्स में कबड्डी को शामिल किया गया है तब से भारतीय टीम इसमें गोल्ड मेडल ही लेकर आती रही है।

 

अपने खेल को लुत्फ नही उठा रहा

कबड्डी के स्टार प्लेयर अजय ठाकुर ने कहा की एशियन गेम्स में मिली हार के बाद से वो अपने खेल का पूरी तरीके से आनंद लेने में नाकामयाब रहे है। अजय ने कहा की प्रो कबड्डी के छठे सीजन में वो अपने रेड पॉइंट लेने के बाद उनका जश्न मनानें का बिलकुल मन नही होता। उनको ज्यादा फर्क नही पड़ता फिर वो चाहे अच्छा खेले या बुरा। गौरतलब है की अजय ठाकुर प्रो कबड्डी के छठे सीजन में तमिल थलाइवाज के कप्तान के तौर पर खेल रहे है। और उनका इस सीजन भी प्रदर्शन अबतक शानदार रहा है।

अनुभव की कमी के कारण मिली हार

प्रो कबड्डी में 600 से ज्यादा पॉइंट अपने नाम कर चुके अजय ने एशियन गेम्स में मिली हार का कारण प्लेयरो में अनुभव की कमी को बताया। अजय ने कहा की उनकी टीम एकदम युवा थी और उसको अंतरराष्टीय़ स्तर पर खेलना का बिलकुल भी अनुभव नही था। हालांकि कप्तान ने अपनी युवा टीम के प्लेयरों को बेस्ट बताते हुए उनके प्रदर्शन की तारीफ की।

Previous Article
Next Article

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *