December 10, 2018
| On 3 महीना ago

ऐतिहासिक रिकॉर्ड्स का गवाह बना है प्रो कबड्डी का छठा सीजन

By Shubham Mishra

प्रो कबड्डी लीग के छठे सीजन का आधा सफर समाप्त हो चुका है। प्रो कबड्डी का यह सीजन पूरी तरह से युवाओं खिलाडियों के नाम रहा है। लेकिन इस सीजन में कुछ ऐसे रिकॉर्ड्स बने, जो की प्रो कबड्डी के इतिहास में सुनहरे अक्षरों में लिख उठे। आइए एक नजर डालतें है इन रिकॉर्डस पर..

डुबकी किंग सबसे अव्वल

प्रो कबड्डी लीग में दूसरे सीजन से अपने करियर की शुरुआत करने वाले प्रदीप नरवाल ने छठे सीजन में कई रिकॉर्डस अपने नाम किए। डुबकी किंग के नाम से मशहूर प्रदीप नरवाल प्रो कबड्डी लीग के इतिहास में 800 रेड पॉइंटस लेने वाले पहले खिलाड़ी बन गए है। प्रदीप ने यह कारनामा 7 दिसंबर को हुए पुणेरी पलटन के खिलाफ मैच में किया। प्रदीप ने इसी सीजन में 700 रेड पॉइंटस का आंकडा भी छुआ था। प्रदीप ने स्टार रेडर राहुल चौधरी(771), अजय ठाकुर(697) जैसे रेडरों को पछाड़ते हुए यह कर्तिमान अपने नाम किया है। प्रदीप के इस मैच के पहले 783 रेड पॉइंटस थे। उन्होने पुणेरी के खिलाफ इस मैच में 26 रेड में 27 पॉइंटस अर्जित किए थे। जो की छठे सीजन में रेड में लिए सबसे ज्यादा पॉइंटस भी थे।

मंजीत चिल्लर लाजवाब

प्रो कबड्डी लीग के छठे सीजन में तमिल थलाइवाज टीम की ओर से खेल रहे स्टार डिफेंडर मंजीत चिल्लर ने सबसे ज्यादा टैकल पॉइंटस का रिकॉर्डस अपने नाम कर लिया है। मंजीत ऐसे पहले डिफेंडर बन गए है। जिन्होनें 300 टैकल पॉइंटस अपने नाम किए है। मंजीत ने यह कारनामा अपने 91 मैच में दंबग दिल्ली के खिलाफ खेलते हुए पूरा किया। मंजीत के बाद रविंद्र पहल 86 मैचों में 255 टैकल पॉइंटस लेकर दूसरे नंबर पर मौजूद है।

ऐतिहासिक जीत

यही नही प्रो कबड्डी लीग के छठे सीजन में कई और बेहद शानदार रिकॉर्डस बनें। प्रो कबड्डी के इतिहास में ऐसा पहली बार देखने को मिला जब किसी टीम ने 15 पॉइंटस से पिछड़ने के बाद मैच में वापसी करते हुए, उस मैच को अपने नाम किया हो। यह कारनामा पुणेरी पलटन की टीम ने हरियाणा स्टीलर्स के खिलाफ कर के दिखाया है। पुणेरी पलटन ने 10-25 से पिछड़ने के बावजूद मैच को 35-33 से अपने नाम किया था।

Shubham Mishra

View Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked*