अभी सीखना है रूट को टी20 से

Updated on: Jul 10, 2018 6:30 pm IST

  • यह समय है आत्ममंथन का :-

    टी20 मुकाबलों में इंग्लैंड की हार ने राष्ट्रीय टीम के सामने कई सवाल खड़े कर दिये हैं. रैंकिंग पर अगर नजर न डाले तब लगता है कि इंग्लैंड अपनी साख सफेद गेंद के खेलों में खो रहा है.

    पॉल फरब्रेस,जोकि इंग्लैंड के अंतरिम कोच थे इन मुकाबलों के लिए उन्होने अपने कई गहन विचार व्यक्त किये है इस मुद्दे पर. वो कहते है कि “पिछले चार मुकाबलों में हमें काफी कुछ सीखने को मिला हैं, और टी20 में भी हमनें काफी विश्लेषण किया है.
    रूट के पास मौका है खुद की काबिलियत साबित करने का :-
    इंग्लैंड के प्रमुख बल्लेबाज, जिन्हें बल्लेबाजी की धुरी समझा जाता है, उन्होने, अबतक इन मुकाबलों में केवल 35,0 और 9 का स्कोर किया है. ये अंक भारत और ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ के मुकाबलों के हैं.
    “हर खिलाड़ी के लिए खेल को छोड़ना काफी बुरी बात होती है. हम सबको उम्मीद है कि जो अपने ऊपर काफी मेहनत करेंगे.”
    “जहां तक मुझे लगता है कि खेल से बाहर होने के कारण जो काफी ज्यादा निराश थे, क्यूकि वे एक ऐसे खिलाड़ी है जो अपनी टीम के लिए हर मैच खेलना चाहते हैं. उसके जैसा खिलाड़ी जो स्ट्राइक रोटेट कर सके, स्पिन खेल सके, लगभग हर टीम को चाहिए होता है. उनके पास स्टोक्स और बैरस्टो की तरह पावर हिटिंग नहीं है, फिर भी वे उनसे कई गुना बेहतर साबित हो सकते हैं ”
    “खिलाड़ी अपने प्रदर्शन और अन्य खिलाड़ियों से ही सीखते है, हमें उम्मीद है कि जो काफी कुछ सीखकर आत्मविश्वास के साथ आगे के मैचेस खेलेंगे” “मॉर्गन जिस तरह मुश्किल समय पर फैसले लेते है, और खिलाड़ियों से बात करते है, यह सब जो रूट सीखेंगे” बकौल पॉल फरब्रेस.
    भारत एक मजबूत पक्ष है :-
    फरब्रेस मानते है कि 50 ओवर के क्रिकेट में भी इंग्लैंड को चुनौतीयों का सामना करना होगा, क्यूकि भारत एक बेहद मजबूत पक्ष है, और वे वापसी करना बखूबी जानते हैं. भारत को अंतिम समय पर फेर बदल के लिए जाना जाता है, इसीलिए आगे आने वाले मुकाबले दिलचस्प होंगे.

    Previous Article
    Next Article

    Joe Root will learn from T20 axe: Paul Farbace

    Updated on: Jul 10, 2018 11:51 am IST

  • IT’S TIME TO INTROSPECT

    The defeat by India in the T20 series is an alarming situation for English players that, whatever be the rankings, they do not necessarily rule the game in white-ball cricket.

    Paul Farbrace, England’s interim coach during this T20 phase, is an optimistic fellow.

    He said,“We’ve learned a lot over the last four matches and we’ve also been taught a lesson in T20 cricket as well”.

    ANOTHER CHANCE FOR ROOT

    Despite being recognised as England’s first-class multi-format batsman, Root was under pressure following scores of 35, 0 and 9 in his three previous T20 innings against Australia and India respectively.

    He made way for the return of Ben Stokes in Bristol after Alex Hales played a match-winning half-century at Cardiff on Friday.

    “Every player goes through a period where you either find it hard or you’ve left out the side. We all know that [Joe’s] response will be to work harder, try harder and score more runs”

    “I’m sure he was extremely disappointed to be left out because he wants to play every game for England and he actually wants to show he’s a high-quality player in all forms of the game. You need people who can control the strike, can play spin well and keep you in tight games. That’s a skill Joe has, he might not have the same power as that of Stokes or Bairstow but powerful cricket shots, even in T20, will get your advantage.

    I think if England is to be successful in T20 cricket over a few years down the line leading into the World Cup, Joe will play an impressive and big part in that.”

    “Any experience he gained over the last few days will definitely help him.

    Players learn from players and I’m confident that Joe will be watching the way Morgs talks to the team, the way he goes about all the things, the way he makes crucial decisions.

    INDIAN SQUAD IS DANGEROUS

    Farbrace assures England will face another tough challenge from India in the ODI series.
    “They are a spectacular side, and are definitely here to get stuck into the game,” he said. “We are going to have to play exceptionally well to win it”, he added.

    Previous Article
    Next Article