रवि शास्त्री के हाथों में कितना सुरक्षित है भारतीय टीम का भविष्य,देखें क्या कहते है अबतक के आंकड़ें

By Shubham Mishra @shub4438

क्रिकेट सलाहकार समिति(CAC) ने शुक्रवार को भारतीय टीम के नए कोच का ऐलान कर दिया, रवि शास्त्री को टीम इंडिया का फिर से कोच बना दिया गया। शास्त्री का कॉन्ट्रेक्ट हाल में हुए विश्व कप में समाप्त हुआ था। जिसके बाद टीम इंडिया के कोच पद के लिए भारतीय क्रिकेट  कंट्रोल बोर्ड(BCCI) ने क्रिकेट सलाहकार समिति का गठन किया और कपिल देव की अगुवाई में तीन सदस्यीय टीम ने रवि शास्त्री को साल 2021 में होने वाले टी20 विश्व कप तक के लिए टीम का कोच चुना।

शास्त्री का रिकॉर्ड भले ही कोच के तौर पर ओवरओल बढ़िया रहा हो लेकिन इस बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता की उनकी कोचिंग में टीम अबतक एक भी आईसीसी टूर्नामेंट जीतने में कामयाब नहीं हो सकी है। आइए एक नजर डालते है रवि शास्त्री के कोच रहते हुए भारतीय टीम की उपलब्धियों पर…

शास्त्री की अगुवाई में टीम का प्रदर्शन

रवि शास्त्री भारतीय टीम के साथ साल 2015 से है, उस समय वो भारतीय टीम के डायरेक्टर के तौर पर टीम से जुड़े हुए थे। जिसके बाद जुलाई 2017 में उनको टीम इंडिया के कोच के तौर पर नियुक्त किया गया। शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया का रिकॉर्ड –

टेस्ट मैच – 21

जीत – 13

जीत प्रतिशत – 52.38

वनडे मैच – 60

जीत – 43

जीत प्रतिशत – 71.67

टी20 मैच – 36

जीत – 25

जीत प्रतिशत – 69.21

यानि शास्त्री की अगुवाई में टीम इंडिया का ओवरओल रिकॉर्ड काफी दमदार रहा है, खासतौर पर एकदिवसीय मैचों में टीम ने पूरी तरह से मैदान मारा है।

ऑस्ट्रेलिया की सरजर्मी पर रचा इतिहास

रवि शास्त्री की कोचिंग में भारतीय टीम ने टेस्ट क्रिकेट में इतिहास रचते हुए पहली दफा ऑस्ट्रेलिया की उसी की सरजर्मी पर 2-1 से मात दी। जबकि वनडे सीरीज में टीम ने दमदार प्रदर्शन करते हुए तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज को 2-1 से अपने नाम किया।

महज ऑस्ट्रेलिया ही नहीं शास्त्री की अगुवाई में टीम ने साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड,न्यूजीलैंड जैसी दमदार टीमों को भी घुटने टेकने पर मजबूर किया। शास्त्री के कोच रहते हुए टीम इंडिया ने एशिया कप पर भी कब्जा जमाया।

आईसीसी टूर्नामेंट में खराब रहा रिकॉर्ड

टीम इंडिया का रिकॉर्ड रवि शास्त्री की अगुवाई में आईसीसी टूर्नामेंटों में कुछ खास नहीं रहा। विश्व कप 2015 में टीम सेमीफाइनल मुकाबले में हार कर बाहर हो गई, उस समय शास्त्री टीम के डायरेक्टर थे। जबकि चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल में भी टीम को पाकिस्तान के हाथों हार का सामना करना पड़ा था।

इस साल हुए विश्व कप में भी भारतीय टीम सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार का टूर्नामेंट से बाहर हो गई थी। जिसके बाद शास्त्री के कई फैसलों को लेकर उनकी आलोचना हुई थी।

यह भी पढ़े – भारतीय टीम के कोच का आज होगा ऐलान,इन छह नामों को किया गया है शॉर्टलिस्ट

टी20 विश्व कप संभालेंगे शास्त्री का कार्यभार

रवि शास्त्री नए कॉन्ट्रेक्ट के मुताबिक टीम इंडिया के कोच पद पर 2021 में होने वाले टी20 विश्व कप तक रहेंगे। जिसके बाद उनकी अगुवाई में टीम के प्रदर्शन की फिर से समीक्षा की जाएगी।

शास्त्री के चयन के बाद कपिल देव ने यह बात स्पष्ट की उनके चयन को लेकर कप्तान विराट कोहली से किसी भी प्रकार की बातचीत नहीं की गई। हालांकि विंडीज रवाना होने से पहले कोहली ने कहा था की वो टीम के कोच के तौर पर रवि शास्त्री को ही देखना पसंद करेंगे।

खैर रवि शास्त्री के अगुवाई में आने वाले समय में टीम कैसा प्रदर्शन करेंगी यह तो वक्त ही बताएगा, लेकिन शास्त्री की अगुवाई में टीम इंडिया की आईसीसी टूर्नामेंटों में नाकामी जरुर चिंता का विषय है, क्योकि आने वाले दो सालों में भारतीय टीम को दो टी20 विश्व कप और चैंपियंस ट्रॉफी जैसी बड़े आईसीसी टूर्नामेंट में हिस्सा लेना है।

Shubham Mishra @shub4438

Die Hard fan of cricket and love to write for sports...