बड़ी तस्वीर 

 

रोज बाउल का टेस्ट एक इकलौता ऐसा मुकाबला था जिसमें कोहली ने पिछले मैच की प्लेयिंग एलेवन को ही टीम में जगह दी थी. चौथे मुकाबले में बुरी तरह हारने के बाद, यह तो कदापि नहीं लगता कि वे तीसरी लगातार मुकाबले में सेम टीम उतारेंगे. भारत के पांचवे टेस्ट मैच से पहले के अभ्यास सत्र से काफी अंदाजा लगा गया कि पांचवे टेस्ट की तस्वीर क्या होने वाली है. गौरतलब है कि भारत पांचवे टेस्ट मैच में बदलाव कर सकता है.

 

क्या हनुमा विहारी का पदार्पण होगा? 
हनुमा विहारी जिनकी घरेलू टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा औसत है, वे कुलदीप यादव की जगह आखिरी दो मुकाबलों के लिए टीम में शामिल किए गए हैं.

 

बुधवार को हनुमा विहारी को कप्तान कोहली और उपकप्तान अजिंक्य रहाणे के साथ बल्लेबाजी करते हुए पाया गया. गौरतलब है कि यह तीनों संजय बांगर की निगरानी में बल्लेबाजी का अभ्यास कर रहे थे. संजय की निगरानी में हनुमा ने अच्छे फूट वर्क का अभ्यास किया. अगर विहारी हार्दिक पांड्या की जगह पर पदार्पण करते हैं तब वे, 292वें खिलाड़ी होंगे जो भारत के लिए पदार्पण करेंगे.

 

पृथ्वी शा के लिए कोई जगह नहीं? 
भारतीय बल्लेबाजों की टेस्ट मुकाबलों में लगातार फेलर के बावजूद पृथ्वी शा के पदार्पण के कोई चांस नहीं बन रहे. गौरतलब के मुंबई के युवा होनहार बल्लेबाज को बल्लेबाजी अभ्यास में तब बुलाया गया जब सभी स्पेशलिस्ट बल्लेबाज अपना अभ्यास कर चुके थे. उन्होने रवींद्र जड़ेजा और ऋषभ पंत के साथ बल्लेबाजी की, के एल राहुल ने सबसे ज्यादा अभ्यास किया और फिर स्लिप कैचिंग का अभ्यास भी किया.

 

अश्विन की जगह जडेजा? 

 

अश्विन ने चौथे मुकाबले में, अच्छा प्रदर्शन करने में नाकामयाबी दिखाई. वे मोइन अली की तरह परिस्थितियों का सही फायदा नहीं उठा पाये. अंदेशा यह भी लगाया जा रहा है किया अश्विन गेंदबाजी करने के लिए स्वस्थ थे, क्यूंकि तीसरे मुकाबले में वे चोटिल हो गये थे.

 

बुधवार को अश्विन, शंकर बसु के साथ दौड़ने का अभ्यास कर रहे थे, वहीं जड़ेजा ने गेंदबाजी और बल्लेबाजी का अभ्यास किया. गौरतलब है कि यह हो सकता है कि अश्विन की जगह पर रवींद्र जडेजा को खिलाया जाये.