इंग्लैंड की जमीन पर खेलने से पहले, भारतीय टीम वहां अपने रिकॉर्ड सही करने के लिए काफी प्रेरित थी. भारतीय टीम ने इसी प्रेरणा के साथ टी20 और एकदिवसीय क्रिकेट में काफी कड़ी चुनौती दी. जहां भारत ने टी20 सीरीज जीती तो वहीं उन्हे एकदिवसीय श्रृंखला में हार का मूह देखना पड़ा.

 

टी20 और एकदिवसीय श्रृंखला खत्म होने के बाद लोग भारत का टेस्ट सीरीज में प्रदर्शन देखने के लिए काफी उत्सुक थे. भारत और इंग्लैंड के बीच पांच मुकाबलों की सीरीज खेली जानी थी. सभी की काफी ज्यादा उम्मीदें टीम के साथ थी, ऐसा लग रहा था कि भारत अपने पुराने रिकॉर्ड को भुलाकर एक नया इतिहास लिखेगा.

 

एडजस्टेन के पहले मुकाबले में भारत ने, विराट कोहली के शानदार शतक की बदौलत काफी कड़ी टक्कर इंग्लैंड को दी. टीम की हार के बावजूद लोगों की उम्मीदें थीं कि, भारत लॉर्ड्स में इंग्लैंड को हरा सकता है.
लॉर्ड्स में तेज पिच और खराब मौसम के कारण, भारतीय टीम पूरी तरह धराशायी हो गई. भारतीय टीम को इस मुकाबले में 159 रन और एक पारी से हार का सामना करना पड़ा.

 

भारतीय बल्लेबाज ज्यादा समय तक टिक नहीं पाये और इंग्लैंड के गेंदबाजों ने भारतीय टीम को पूरी तरह ध्वस्त कर दिया. भारत पहली पारी में केवल 107 और दूसरी पारी में केवल 130 रन ही बना पाया.
जेम्स एंडरसन ने कुल 9 विकेट लिए और उनके साथी गेंदबाज दूसरी पारी में चार विकेट लेकर उनका साथ दिया.

 

ट्विटर पर चारो ओर से सवाल ही सवाल आ रहे थे, और भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री भी सवालों के घेरे में थे. भारतीय टीम लॉर्ड्स के इस मुकाबले में इंग्लैंड को कड़ी टक्कर देने में भी नाकामयाब रही.
मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में शास्त्री ने कहा कि भारतीय टीम जीतने के लिए उत्सुक थी पर हम नहीं जीत पाये.

 

यहां देखिये ट्विटर ने क्या कहा :-