सिडनी टेस्ट : ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के लिए बुरा सपना बन चुका है ये भारतीय बल्लेबाज, लगा चुका है 3 शतक

By Shubham Mishra

क्रिकेट में एक बड़ी पुरानी कहावत है फॉर्म ईज टेम्परेरी बट क्लास इज परमानेंट कुछ ऐसा ही साबित किया है चेतेश्वर पुजारा नें। साउथ अफ्रीका और इंग्लैंड दौरे पर कुछ खास नहीं करने के चलते पुजारा लगातार आलोचकों के निशाने पर रहें।

लेकिन दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने ऑस्ट्रेलिया की सरजर्मी पर एक बार फिर दिखाया की क्यो उनकी गिनती टेस्ट क्रिकेट के दिग्गज बल्लेबाजों में होती है।

शतकवीर पुजारा

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेलें जा रहे सीरीज के चौथे टेस्ट मैच में चेतेश्वर पुजारा ने एक और शानदार शतकीय पारी खेली है। पुजारा का यह इस टेस्ट सीरीज में यह तीसरा शतक है। इससे पहले एडिलेड और मेलबर्न में भी दाएं हाथ के इस बल्लेबाज ने शानदार शतक लगाया था।

पुजारा सिडनी टेस्ट के पहले दिन 130 रन बनाकर क्रीज पर डटे हुए है। पुजारा इस सीरीज में भारत के लिए संकटमोचक साबित हुए है। पुजारा के शानदार शतक की बदौलत सिडनी टेस्ट मैच में भारत मजबूत स्थिती में पहुंच गया है।

जीत हार के बीच खड़े रहे है पुजारा

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज में अगर भारत 2-1 से आगे तो उसका काफी हद तक श्रेय चेतेश्वर पुजारा को जाता है। एडिलेड टेस्ट में खेली उनकी शतकीय पारी के बदौलत ही टीम उस मैच मे वापिस खड़ी हो सकी थी। तो वही मेलबर्न में मंयक अग्रवाल के साथ की गई दूसरे विकेट की साझेदारी ने भारतीय टीम के बड़े टोटल की नींव रखी थी।

इंग्लैंड दौरा नहीं रहा था खास

इस साल के शुरुआती दौरे पुजारा के लिए कुछ खास नहीं रहें थे। पहले साउथ अफ्रीका दौरे पर पुजारा का बल्ला बेहद खामोश रहा था। तो, वही इंग्लैंड में भी पुजारा के बल्ले से महज एक ही शतकीय पारी देखने को मिली थी। अपनी खराब फॉर्म के चलते पुजारा को इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में टीम से बाहर भी बैठना पड़ा था।

Shubham Mishra