कोहली बने दूसरे भारतीय कप्तान जिन्हे इंग्लैंड में मैन ऑफ द मैच मिला 

 

भारतीय कप्तान विराट कोहली को तीसरे टेस्ट मैच में 203 रनों की जीत के बाद मैंन ऑफ द मैच से नवाजा गया.
मैंन ऑफ द मैच की ट्रॉफी के साथ, विराट कोहली कपिल देव के साथ एक खास सूची में जुड़ चुके हैं. कपिल देव ने यह अवार्ड 1986 में लॉर्ड्स में जीता था. और विराट ने तीसरे मुकाबले में 97 और 103 रनों की शानदार पारी के बाद मैंन ऑफ द मैच का खिताब अपने नाम किया.

 

तीसरे मुकाबले में कोहली ने ट्रेंट ब्रिज में कुल 200 रन बनाए यह उनका 12 वां अधिकतम है और लंबे प्रारूप में भारतीय कप्तान द्वारा सबसे ज्यादा है.
गौरतलब है कि विराट कोहली पांचवे भारतीय कप्तान हैं जिन्हे भारत के बाहर मैन ऑफ द मैच के खिताब से नवाजा गया हो. अन्य चार भारतीय कप्तान कपिल देव, सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और राहुल द्रविड़ है.

 

विश्व क्रिकेट के स्तर पर विराट कप्तान के रूप में छह बार मैन ऑफ द मैच का खिताब कमा चुके हैं. इस मुकाबले के बाद उन्होने श्रीलंकाई कप्तान महेला जयवर्धने की बराबरी कर ली. गौरतलब है कि महेला ने भी यह खिताब अपने करियर में छह बार कप्तान के रूप में जीता था, और अब कोहली केवल पाकिस्तान पूर्व कप्तान इमरान खान से पूछे हैं जिन्होने दस बार यह खिताब अपने नाम किया है.

 

भारत की इस बड़ी जीत के दौरान कई रिकॉर्ड बने. विराट कोहली, सौरव गांगुली को पीछे छोड़ते हुए भारत के दूसरे सबसे सफलतम टेस्ट कप्तान बन गए. उन्होने टीम को 22 बार जीत के लिए नेतृत्व किया है और अब वे केवल पूर्व विश्वकप विजेता भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से पीछे हैं.

 

कोहली ने कोच को शैंपेन बोतल भेंट की

 

कोहली ने मैच के बाद हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि, ” मैं अपनी पारी अपनी पत्नी को समर्पित करना चाहता हूं. उन्होने मुझे काफी मोटीवेट किया और सकारात्मकता बनाए रखी.” सूत्रों के अनुसार भारतीय कप्तान ने रवि शास्त्री को शैंपेन भेंट की. यह बोतल उन्हे पोस्ट मैच कॉन्फ्रेंस में मिली थी पर उन्होने यह भारतीय कोच की समर्पित कर दी.