कोहली के न होने पर भिड़े स्टार और बीसीसीआई

हुआ क्या था :
इस कहानी को पहली बार 17 सितंबर को मुंबई मिरर की तरफ से उठाया गया था। एशिया कप टीम में विराट कोहली की अनुपस्थिति का काफी प्रभाव है जितना आँखों से देखा जा सकता है उससे भी ज्यादा । मामला इस प्रकार
आगे बढ़ गया; सुनील मनोहर ने ब्रॉडकास्टर स्टार की तरफ से लिखा एशियाई क्रिकेट कौंसिल को (एसीसी) और बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंडिया (बीसीसीआई) को की बीसीसीआई को मीडिया अधिकार समझौते
का पालन करना चाहिए ।

बीसीसीआई ने यह कहकर दलील दी कि सर्वश्रेष्ठ टीम को चुना गया था और चयन प्रक्रिया को प्रभावित करने का अधिकार किसी को नहीं ।

मनोहर ने पत्र में लिखा था कि एमआरए के कारण एसीसी का कुछ कर्तव्य था । सच्चाई ये है की बेस्ट टीम एशिया कप के लिए नहीं जा रही है जिससे ब्रॉडकास्टर के बिज़नेस पर भी असर पड़ेगा |

गलती कहाँ हुई

स्टार ने कहा कि एशिया कप से 15 दिन पहले घोषित की गयी टीम जिसमें दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक की अनुपस्थिति है जिसकी वजह से टूर्नामेंट की कमाई मै असर पड़ेगा।

स्टार प्रतिनिधि ने कहा कि 2 9 जून 2017 के एमआरए के अनुसार, एसीसी को यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि भारत के साथ भाग लेने वाले देशों की सर्वश्रेष्ठ उपलब्ध टीम एशिया कप में खेलें। उन्होंने आगे कहा कि यह
बीसीसीआई के मीडिया सलाहकार और एमएसके प्रसाद जैसे वरिष्ठ चयनकर्ताओं के बयान से पता चला था कि 'उपलब्ध' होने के बावजूद विराट को आराम दिया गया था।

स्टार ने बस घोषणा की कि विराट हाल के दिनों में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों में से एक रहा है और कप्तान और खिलाड़ी के रूप में उनकी उपस्थिति या अनुपस्थिति एक खेल के नतीजे पर काफी प्रभाव डाल सकती है। बीसीसीआई के सीईओ

राहुल जोहरी ने सुनिश्चित किया कि विराट की अनुपस्तिथि के बावजूद बेस्ट टीम को एशिया कप के लिए भेजा गया। और इसकी पूरी जिमेदारी बीसीसीआई चयन समिति की है ।

एसीसी ने घोषित किया कि वह कोहली के आराम पर चर्चा करना चाहता था। एसीसी ने घोषणा की, कि बीसीसीआई ने आश्वासन दिया है कि सर्वश्रेष्ठ उपलब्ध टीम का चयन किया गया था, एसीसी एमआरए के साथ शिकायत कर रहा था लेकिन अब इस मुद्दे का हल निकाल लिया गया है |

Previous Article
Next Article

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *