March 9, 2019
| On 2 महीना ago

विश्वकप 2019 से पहले टीम इंडिया की बढ़ी एक और टेंशन, क्या गब्बर कर पाएंगे वापसी?

By Shubham Bharadwaj

विश्वकप शुरू होने में मात्र दो महीने से कम का समय बचा है लेकिन टीम इंडिया की टेंशन कम होने के बजाए बढती जा रही है. विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम इंडिया अभी नंबर चार के सिरदर्द से परेशान ही थी की अब एक और समस्या बढती नजर आ रही है.

नंबर चार के बाद सलामी जोड़ी बनी समस्या

जी हाँ नंबर चार के बाद विश्व क्रिकेट के सबसे मजबूत टॉप आर्डर पर नजर लग गयी है. टीम के सलामी बल्लेबाज़ गब्बर यानी शिखर धवन का फ्लॉप show जारी है. धोनी के घर रांची में भी शिखर के बल्ले से सिर्फ एक रन निकले. जबकि इससे पहले भी 16 पारियों में से 14 पारी में शिखर नाकाम रहे है. जिसके चलते हो सकता है कप्तान कोहली अगले मैच में उन्हें आराम दे लेकिन कोच संजय बांगड़ ने अपने गब्बर बल्लेबाज़ पर भरोसा जताया है.

गलत शॉट खेल रहा है गब्बर

अपने बयान में बांगड़ ने कहा कि बाएं हाथ के बल्लेबाज शिखर धवन टीम इंडिया के टॉप बैटिंग ऑर्डर को लेफ्ट-राइट कॉम्बिनेशन देते हैं, जो विपक्षी टीम के गेंदबाजों को मुश्किल में डालने का काम करता है. जो की हमारे लिए उपयोगी है.

credit- BCCI

मगर उनकी मौजूदा फॉर्म को देखते हुए कुछ भी हो सकता है. शिखर लगातार खराब शॉट सेलेक्शन के चलते अपना विकेट गंवाते चले जा रहे है. अगर गब्बर का फ्लॉप शो जरी रहता है तो टेस्ट की तरह वनडे टीम से भी उनका सफाया हो सकता है. हालाँकि विश्वकप के लिए उनकी टिकट पक्की है.

नंबर चार पर रायुडू ही रहेंगे हकदार

इसके साथ ही नंबर चार के हीरो माने जा रहे अम्बाती रायुडू भी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ जारी वर्तमान सीरीज़ में कोई कमाल नहीं दिखा पाए है. तीनो वनडे मैचों में रायुडू की बात करें तो 18 रन की उनकी सर्वोच्च पारी रही है. ऐसे में जब उनके उपर भी सवाल उठाये गये तो बल्लेबाज़ी कोच संजय बांगड़ ने  इस बल्लेबाज़ पर भी विश्वास जताया.

credit-BCCI

रायुडू के मामले पर बांगड़ ने कहा बांगड़ ने कहा कि तीसरे वन-डे में रायुडू खराब बल्लेबाजी की वजह से नहीं बल्कि पैट कमिंस की शानदार गेंद की वजह से अपना विकेट गंवा बैठे थे.

अंध विश्वास कही पड़ ना जाए भरी

credit-HT

इस तरह बल्लेबाज़ी कोच सजाय बांगड़ के विश्वास से साफ़ नजर आता है की रायुडू और गब्बर के फ्लॉप show का टीम में उनकी जगह पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है. इससे दो बातें सामने आती है या तो वो इसका फायदा उठाकर अपनी बल्लेबाज़ी में सुधार कर मैदान में विश्वकप से पहले धमाकेदार वापसी कर सकते है. दूसरा ये कही की कोच का अंधविश्वास उन्हें और गर्त में ना ले जाए की हम सही खेल रहे है मगर किस्मत साथ नहीं दे रही है. ऐसे में दोनों के साथ क्या होता है ये तो आने वाला वक़्त ही बतायेगा. लेकिन टीम इंडिया की टेंशन जारी है. .

Shubham Bharadwaj