January 22, 2019
| On 3 महीना ago

3 बड़े कारण जिसकी वजह से विराट सेना न्यूजीलैंड में भी रचेगी इतिहास

By Taranjeet Sikka

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। अब इसके बाद भारत का अगला मुकाबला न्यूजीलैंड के साथ होना है। इसके लिए विराट सेना ने अपनी कमर कस ली है। जहां एक तरफ टीम इंडिया का विजय रथ जारी है तो वहीं इसे रोकने के लिए न्यूजीलैंड भी कोई कसर नहीं छोड़ेगी।

Credit : BCCI Twitter

इस दौरे के बाद सीधा आईपीएल होने है और फिर अंतरराष्ट्रीय दौरा कोई है तो वो सीधा विश्व कप है। जिसके लिहाज से देखा जाए तो ये दौरा भारतीय टीम के लिए एक अहम साबित होने वाला है। ऐसे में भारत यहां पर भी कोशिश करेगी कि वो अपने इस ऐतिहासिक विजय रथ को बरकरार रखे।

1) टीम इंडिया की बल्लेबाजी

टीम इंडिया की बल्लेबाजी सितारों से सजी है। टॉप ऑर्डर में रोहित शर्मा, शिखर धवन और विराट कोहली हैं। विराट लगातार रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड बना रहे हैं और दोनों सलामी बल्लेबाज अच्छी लय पकड़ लेते हैं।

Credit : BCCI twitter

वहीं उनके बैक अप प्लान के लिए शुभमन गिल हैं, जो एक टॉप ऑर्डर बल्लेबाज हैं। वहीं मिडिल ऑर्डर के लिए टीम की जिम्मेदारी एमएस धोनी, अंबाती रायडू, और दिनेश कार्तिक जैसे बल्लेबाजों के पास होगी। जो टीम के लिए संकटमोचक बन कर खड़े होंते हैं।

धोनी ने अपने पिछले तीनों वनडे मैचों में अर्धशतक जड़ा है, और दिनेश कार्तिक ने बखूबी इनका साथ दिया है। तो वहीं निचले क्रम में विजय शंकर, केदार जाधव और रविंद्र जडेजा हैं, जो बड़े शॉट्स खेलने में सक्षम हैं।

2) स्पिन गेंदबाजी पर रहेगा भरोसा

जहां एक तरफ टीम इंडिया की बल्लेबाजी इतनी आक्रामक है तो वहीं स्पिन की कमान कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, केदार जाधव, रविंद्र जडेजा के कंधों पर होगी।

Credit : BCCI twitter

अभी ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए आखिरी वनडे मैच में ही चहल ने 6 विकेट लेकर एक रिकॉर्ड बना दिया था। तो ऐसे में टीम इंडिया को उनसे और उनके जोड़ीदार कुलदीप यादव से काफी उम्मीदें होंगे।

3) तेज गेंदबाजी में भुवी- शमी पर निगाहें

तेज गेंदबाजी में क्योंकि इस दौरे पर जस्प्रीत बुमराह नहीं है तो ऐसे में सारा दारोमदार भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी के ऊपर होगा।

Credit : BCCI twitter

वहीं इनका साथ देने के लिए मोहम्मद सिराज, खलील अहमद जैसे युवा गेंदबाज हैं। भुवनेश्वर डेथ ओवरों में रन रोकने के लिए सभी के चहेते रहे हैं। पूरे वनडे करियर में भूवी की इकॉनमी रेट 5 से भी कम की है।

Taranjeet Sikka