February 6, 2019
| On 4 महीना ago

NZ vs IND : वेलिंगटन टी20 में भारत को मिली शर्मनाक हार, ये चार खिलाड़ी हैं हार के असली जिम्मेदार

By Shubham Mishra

वनडे सीरीज में 4-1 से शानदार जीत दर्ज कर इतिहास रचने वाली टीम इंडिया को टी20 सीरीज के पहले मुकाबलें में न्यूजीलैंड के हाथों करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा।

टीम इंडिया की बल्लेबाजी एक बार फिर दबाव में पूरी तरह से ढ़ह गयी। वही, फील्डिंग में भी टीम ने बेहद आसान कैच टपकाए, जो की टीम की हार की बड़ी वजह भी रही। आइए जानतें है टीम इंडिया की इस हार के तीन बड़े विलेन कौन रहें..

  1. दिनेश कार्तिक ने टपकाए आसान कैच

दिनेश कार्तिक को आखिरी वनडे में टीम में जगह नहीं मिली थी। लेकिन पहले टी20 मुकाबलें में दिनेश कार्तिक को अंतिम एकादश में शामिल किया गया। लेकिन वो ज्यादा कुछ कर नहीं सकें और महज 5 रन बनाकर चलते बनें। वही, दिनेश कार्तिक ने फील्ड में भी अपने प्रदर्शन से बेहद निराश किया।

कार्तिक ने पहले 84 रनों की पारी खेलनें वाले टिम सीफर्ट का कैच टपकाया, तो वही, उन्होने रॉस टेलर को भी एक जीवनदान दिया। जिसके चलते न्यूजीलैंड की टीम इतने बड़े लक्ष्य तक पहुंच सकी। फील्ड में भी दिनेश कार्तिक का योगदान कुछ खास नहीं रहा।

2. ऋषभ पंत से थी बेहद उम्मीदें

220 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम को बाएं हाथ के इस बल्लेबाज से बेहद उम्मीदें थी। न्यूजीलैंड के छोटे मैदान और पंत की काबिलियत को देख कर सभी को यह आस थी की ऋषभ पंत ताबड़तोड़ बल्लेबाजी कर टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाएगें। लेकिन पंत शुरुआत से ही संघर्ष करते हुए नजर आए और आखिरकार वो 10 गेंद में महज चार रन बना चलते बनें।

3. धोनी बने बोझ

महेंद्र सिंह धोनी जिस समय क्रीज पर उतरें तो उनके पिछलों मैचों के प्रदर्शन को देखते हुए दर्शकों को यह उम्मीद थी की माही का बल्ला आज फिर से आग उगलेगा। लेकिन धोनी ने अपनी पारी की शुरुआत बेहद धीमे अंदाज में की।

वही, धोनी अपनी पारी के दौरान एक भी रिस्की शॉट्स खेलते भी नजर नहीं आए। धोनी के बल्ले से रन निकलने तब शुरु हुए जब मैच का पलड़ा पूरी तरह से न्यूजीलैंड के पक्ष में झुक चुका था। ऐसे में यह सवाल जायज है की क्या धोनी की जगह दूसरे टी20 में शुभमन गिल को मौका मिलना चाहिए या नहीं..

हार्दिक पांड्या ने किया निराश

हार्दिक पांड्या की गिनती टी20 फॉर्मेट में सबसे बेहतीन ऑलराउंडर के तौर पर की जाती है। लेकिन पहले टी20 मुकाबलें में वो इसके बिलकुल उलट नजर आए। पांड्या ने जहां अपने चार ओवर में 51 रन लुटाए। वही, जरुरत के समय वह अपना विकेट फेंक कर महज चार रन बनाकर आउट होकर चलते बनें।

Shubham Mishra