टीम इंडिया के युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद को आईसीसी ने जोरदार फटकार लगाई है. खलील अहमद को उसके उत्तेजित व्यवहार की वजह से दोषी पाया गया है. इसी कारण आईसीसी ने खलील को नियम 2.5 का उल्लंघन करने के जुर्म में ऑफिशियली वॉर्निंग दी है. साथ ही उनके खाते में एक डिमैरिट प्वाइंट भी जोड़ा है. गौरतलब है कि पिछले दिनों मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में भारत और वेस्टइंडीज के बीच चौथा वनडे मैच खेला गया था. जहाँ मेजबान भारत ने विंडीज को 224 रनों से हराया. मैच की दूसरी पारी में कैरिबियाई टीम लक्ष्य का पीछा कर रही थी.

 

KXIP ने माइक हेसन को बनाया हेड कोच, इस खिलाड़ी का कटा टीम से पत्ता

सैमुअल्स को कहा अपशब्द

14वें ओवर में खलील अहमद सैमुअल्स को गेंदबाजी कर रहे थे. खलील की एक गेंद पर सैमुअल्स स्लिप में रोहित शर्मा को कैच दे बैठे. जैसे ही सैमुअल्स का विकेट गिरा, खलील अहमद ने उत्तेजित होकर सेलिब्रेट किया. और उन्होंने सैमुअल्स को अपशब्द भी कहा. जोकि खेल भावना के खिलाफ है. इस मैच में खलील अहमद लगातार फर्जी अपील कर रहे थे. और अंपायर पर दबाव डालने की कोशिश भी कर रहे थे. जिसके कारण खलील को एक बार अंपायर अनिल चौधरी से हिदायत भी मिली.

 

मंगलवार को इस घटना पर गौर करते हुए आईसीसी ने लिखा, “खलील को आईसीसी की आचार संहिता के लेवल-1 के उल्लंघन का दोषी पाया गया है। उन्होंने इसके तहत आचार सहिता में लेख 2-5 (एक अंतर्राष्ट्रीय मैच के दौरान अपने प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी के खिलाफ गलत प्रकार का व्यवहार करना या ऐसी भाषा का इस्तेमाल करना, जो प्रतिद्वंद्वी खिलाड़ी की आक्रामक प्रतिक्रिया का कारण बने) का उल्लंघन किया है।”

खलील ने मानी अपनी गलती

दूसरी ओर, युवा तेज गेंदबाज खलील अहमद ने इस दुर्व्यवहार के लिए मैच रेफरी क्रिस ब्रॉड से माफ़ी मांगी है. साथ ही जुर्माने को भी स्वीकारा है. खलील इस समय 20 साल के हैं. युवा हैं, जोश है और परिपक्वता की कमी है. इसलिए, गलतियाँ हो जाती है. अब देखने वाली बात होगी कि पांचवें वनडे में खलील अहमद पर इस फटकार का असर होता है या नहीं? वैसे, चौथे वनडे में खलील अहमद ने गेंदबाजी शानदार की थी. पांच ओवर में 13 रन देकर उन्होंने तीन विकेट झटके थे. जोकि वनडे में खलील अहमद की ये बेस्ट गेंदबाजी है.

(Pic Credit : ESPNCricinfo)