दो घायल गेंदबाज , सीनियर ईशांत शर्मा और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, उनके सामने एक बड़ी बाधा है क्योंकि शनिवार को उनका फिटनेस टेस्ट होगा। यह सेलेक्टर्स के लिए अंतिम फैसला लेने में काम आएगा,आने वाले टेस्ट मैच के लिए जो 4 अक्टूबर से वेस्ट इंडीज के खिलाफ शुरू होने जारा है । खिलाड़िओ के लिए पूरी तरह पोस्टिव रहने के लिए ये फिटनेस टेस्ट जरूरी है |

वर्तमान में, एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) में, अश्विन अपनी गंभीर चोट के लिए इलाज से गुज़र रहे हैं। ईशांत शर्मा जल्द ही वहा जाने वाले है जहां आश्विन अपना इलाज करा रहे है । 2 9 सितंबर 2018 को, दोनों के लिए एक
फिटनेस टेस्ट निर्धारित किया गया है। दुर्भाग्य से अगर ट्रेनर्स ने उन दोनों को अनफिट घोषित किया तो सेलेक्टर्स एक दिन पहले अंतिम टीम की घोषणा कर सकते है।

बुधवार को एमएसके प्रसाद और देवंग गांधी के बीच एक बैठक निर्धारित की गई है । टेस्ट सीरीज के लिए प्लेयर्स की लिस्ट बनाने के लिए | एक मीटिंग का आयोजन पहले भी किया गया था पर उस समय पांचो सेलेक्टर्स मौजूद नहीं थे,क्योंकि एक (सरदीप सिंह) दुबई में थे, दो (जतिन परांजपे और गगन खोडा) विजय हजारे ट्रॉफी से जुड़े थे।

चयनकर्ताओं के लिए चुनौती

सेलेक्टर्स का लक्ष्य एक ऐसी टीम बनाना है जो उस समय भी वही रहे जब ऑस्ट्रेलिया दौरा हो । इंग्लैंड दौरे मे शिखर धवन के खराब प्रदर्शन के बावजूद वो आज भी पसंदीदा है अब ये देखना कि मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ को टीम मे जोड़ा जाएगा या नहीं ।

 

अगला सवाल यह है कि अगर अश्विन को टीम से हटाया गया तो,टीम मैनेजमेंट उनकी जगह किसको सेलेक्ट करेगी, कई लोगों का मानना है कि पसंदीदा विकल्प यूज़वेन्द्र चहल है लेकिन लाल रंग की गेंद से खेलने के लिए अभी वो पूरी तरह तयार नहीं है उन्हें और प्रैक्टिस की जरूरत है । यह भारत ए कोच राहुल द्रविड़ ने भी जाहिर किया था।