धोनी और घरेलू क्रिकेट

भारत के पूर्व कप्तान और लीजेंडरी क्रिकेटर सुनील गावस्कर ने एमएस धोनी को सलाह दी कि उन्हें घरेलू क्रिकेट खेलना चाहिए। एमएस धोनी वर्तमान में एशिया कप 2018 में भारत के लिए खेल रहे हैं, धोनी झारखण्ड के लिए खेलते हे और एक सलाहकार के रूप में कार्य करते है। पर कुछ समय से धोनी घरेलु क्रिकेट नहीं खेले हैं।

 

ये बात सब जानते है की धोनी की बल्लेबाजी सर्वश्रेष्ठ है खासकर इंडियन प्रीमियर लीग में उनके शानदार प्रदर्शन के बाद के बाद । दुर्भाग्य से पूर्व भारतीय कप्तान उस प्रदर्शन को दोहराने में असमर्थ रहे है।

अभ्यास

विश्वकप 2019 को सामने देखते हुए गावस्कर का मानना है कि धोनी को वापस जाकर घरेलू क्रिकेट को खेलना चाहिए। यह खिलाड़ी के अपमान के रूप में नहीं है, लेकिन धोनी के लिए अपना फॉर्म वापस पाने का एक तरीका है और विश्व कप से पहले जितना आवश्यक हो उतना अभ्यास प्राप्त करने के लिए जरूरी है।

गावस्कर ने कहा कि धोनी को चार दिवसीय खेल और घरेलू क्रिकेट खेलना चाहिए। यह उन्हें अभ्यास देगा और झारखंड के कई उभरते खिलाड़ियों को भी प्रेरित करेगा। गावस्कर ने यह कहते हुए समझाया की 50 ओवर के खेल में खिलाडी के लिए ज्यादा मौका नहीं होता खुद को सुधारने के लिए वही 4 दिन का खेल आपका स्टैमिना और पैरों को मजबूत बनाता है।

बुरे फॉर्म से गुजर रहे हे धोनी :

गावस्कर ने टीम के सबसे प्रभावशाली सदस्यों में से एक के रूप में धोनी का नाम दिया और ये भी कहा कि हर कप्तान के लिए धोनी को लेना आवश्यक है । धोनी के लिए, समस्या उनकी हालिया बल्लेबाजी रही है और कई प्रशंसकों के लिए ये चिंता का कारण है।

अगर कीपिंग को देखे तो धोनी हमेशा सर्वश्रेष्ठ रहे हे। आईपीएल के दौरान 2018 में, धोनी ने चेन्नई सुपरकिंग्स को तीसरी बार खिताब जिताया और 16 मैचों में 455 रन बनाये। उनका औसत 76 था वर्तमान एशिया कप 2018 की तुलना में जहां धोनी केवल 3 मैचों में 41 रन बना सके।